DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई गैस मूल्य नीति के बावजूद बनी रहेगी कमी: रिपोर्ट

नई गैस मूल्य नीति के बावजूद बनी रहेगी कमी: रिपोर्ट

एक शोध रिपोर्ट के अनुसार हाल में घोषित नई गैस मूल्य नीति, तेल—गैस की खोज और उत्पादन में नई जान फूंकने में कामयाब नहीं होगी। इस नीति में गैस के दाम काफी कम तय किये गये हैं और भविष्य में गैस पर मूल्य नियंत्रण समाप्त किये जाने के बारे में भी कोई रूपरेखा नहीं बताई गई है।

कुआलालंपुर के सीआईएमबी समूह ने भारत के तेल और गैस परिदश्य पर तैयार अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भारत में प्राकृतिक गैस की कमी और आयात पर उसकी निर्भरता बनी रहेगी।

रिपोर्ट के अनुसार गैस की नई कीमत 5.61 डॉलर प्रति 10 लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट पर बंगाल की खाड़ी में गहरे सागर क्षेत्र में मौजूद गैस खोज व्यवहारिक नहीं रह सकती है। नई कीमत पुरानी दर 4.2 डॉलर प्रति यूनिट के मुकाबले केवल 33 प्रतिशत अधिक है।

रिपोर्ट में कहा है कि नई गैस मूल्य नीति से भारत के तेल एवं गैस क्षेत्र में उत्खनन एवं उत्पादन गतिविधियों में तेजी आने की संभावना कम है। मौजूदा फील्डों से गैस की कीमत बढ़ने के अलावा सरकार ने 18 अक्तूबर को यह भी घोषणा की कि गहरे जल क्षेत्र और कठिनाई भरी नई खोज परियोजना के लिये प्रीमियम दर पर गैस मूल्य का भुगतान किया जाएगा, हालांकि, प्रीमियम कितना होगा इसका निर्धारण अभी होना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नई गैस मूल्य नीति के बावजूद बनी रहेगी कमी: रिपोर्ट