DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पर्चा नहीं भर सके धर्मेंद्र प्रताप देव, धरना पर बैठे

भवनाथपुर सीट से राजद के प्रत्याशी धर्मेंद्र प्रताप देव नामांकन पर्चा दाखिल नहीं कर सके। बुधवार को दोपहर बाद तीन बजे के कुछ देर पहले वह एसडीओ ऑफिस पहुंचे और पर्चा दाखिल करने के लिए निर्वाची पदाधिकारी के सामने पेश हुए। लेकिन निर्वाची पदाधिकारी सह एसडीओ अरुण एक्का ने उनका पर्चा लेने से इनकार कर दिया। इसके बाद देव वहीं धरना पर बैठ गए। उन्होंने प्रशासन पर पक्षपात का आरोप लगाया है।

देव को पहले कांग्रेस का उम्मीदवार बनाया गया था। बाद में तालमेल के तहत भवनाथपुर सीट राजद के खाते में चली गई। तब राजद ने उन्हें अपना प्रत्याशी घोषित किया और पार्टी का सिंबल भी उन्हें मिला। बुधवार को पर्चा भरने का अंतिम दिन था। एसडीओ सह निर्वाची पदाधिकारी ने दोपहर बाद तीन बजे तक का समय तय किया था। प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार देव समय खत्म होने के बाद पर्चा दाखिल करने पहुंचे थे। इसलिए उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी गई। इस मुद्दे पर देव और उनके समर्थकों के साथ अधिकारियों की बहस भी हुई। वहां से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को भी फोन लगाया गया। उन्होंने भी देव से बात की।
पर्चा नहीं भरने देने के खिलाफ देव और उनके समर्थक एसडीओ दफ्तर में ही नारेबाजी करने लगे। इसके अलावा वहां धरना शुरू हो गया। देर शाम तक धरना जारी था। इधर देव ने आरोप लगाया है कि प्रशासन भाजपा के इशारे पर काम कर रहा है। भाजपा प्रत्याशी अनंत प्रताप देव के कहने पर उन्हें पर्चा भरने से रोका गया।

भवनाथपुर सीट पर जारी है ड्रामा
भवनाथपुर सीट पर हाई वोल्टेज ड्रामा लगातार जारी है। यहां कांग्रेस ने पहले निवर्तमान विधायक अनंत प्रताप देव को अपना उम्मीदवार बनाया था। अंतिम समय में अनंत नाटकीय अंदाज में भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा ने उन्हें उम्मीदवार भी बना दिया। तब कांग्रेस ने धर्मेंद्र प्रताप देव को उम्मीदवार बनाया। बाद में यह सीट राजद को मिल गई। उसने भी धर्मेंद्र प्रताप देव को ही प्रत्याशी बनाया था।

 

 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पर्चा नहीं भर सके धर्मेंद्र प्रताप देव, धरना पर बैठे