class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जदयू में भी चढ़ा असंतोष का पारा

मंत्रिमंडल विस्तार के बाद जदयू में असंतुष्ट गतिविधि अधिक मुखर नहीं था, लेकिन अब इसका राजनीतिक तापमान बढ़ाने की मशक्कत शुरू कर दी गई है। बुधवार को जदयू के तकरीबन एक दर्जन विधायक उनसे मुलाकात करने उनके आवास पहुंचे।ड्ढr ड्ढr हालांकि हसन ने इसे महज शिष्टाचार भेंट बताया और कहा कि वे ‘सांत्वना’ देने आए थे। अलबत्ता ऑफ द रिकार्ड उनका दावा घर पर दो दर्जन से अधिक विधायकों के पहुंचने का था। इसके अलावा एक दर्जन विधायकों और तीन मंत्रियों द्वारा फोन पर ‘हाल-चाल’ पूछे जाने की भी बात उन्होंने बताई। एक विधायक चार-पांच दिनों में बड़ा धमाका करने का राज भी बता गए। उधर देर रात मोनाजिर हसन दिल्ली के लिए रवाना हो गए। बुधवार की सुबह मंत्रिमंडल से हटाए गए विश्वमोहन कुमार, अजीत कुमार के अलावा जदयू विधायक मुन्ना शुक्ला, रणु कुमारी कुशवाहा, जयकुमार सिंह, विश्वनाथ सिंह, रामप्रवेश राय, नीरज सिंह उर्फ बबलू सिंह, ललन पासवान एक-एक कर श्री हसन के घर जुटने लगे। बंद कमर में दो-तीन दौर की बैठकें हुईं और भविष्य की रणनीति भी बनी। हालांकि हसन ने रणनीति का खुलासा करने से इंकार कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जदयू में भी चढ़ा असंतोष का पारा