DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2009 के चुनाव में बाघमारा के सारे अनुमान हुए थे गलत

बाघमारा विधानसभा चुनाव में किस पार्टी का परचम लहरायेगा। किस के सिर पर जीत का ताज सजेगा। यह सब तो फिलहाल भविष्य के गर्भ में है। लेकिन पिछला 2009 का चुनाव जो हुआ था काफी रोचक था। क्योंकि इस चुनाव में कई अनुमान उल्टे साबित हुए थे। ढुलू महतो के बारे में पिछले चुनाव में जो कयास लगाए गए थे उन्होंने जीत हासिल कर सारे अनुमानों को झुठला दिया था।

इन्होंने 36 हजार 26 मत प्राप्त कर 19 हजार मतो से जदयू व कांग्रेस के दो पूर्व मंत्रियों पछाड़ा था। इनमें झारखंड के पूर्व मंत्री के साथ वर्तमान में प्रदेश जदयू के अध्यक्ष जलेश्वर महतो और अविभाजित बिहार के मंत्री रहे ओ पी लाल शामिल थे। इन्हें क्रमश: 36 हजार 66 मत और 27 हजार 8 सौ 89 मत मिले थे। इस चुनाव में भी जदयू प्रत्याशी के रूप में जलेश्वर व भाजपा प्रत्याशी के रूप में ढुलू आमने सामने होगें।

ढुलू ने वर्ष 2005 के चुनाव में वनांचल कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी के रूप में 25 हजार वोट हासिल कर विरोधियों को अपनी ताकत का अहसास करा हलचल मचा दिया था। चुनाव में युवाओं की भारी फौज ने उत्साहित होकर उनका साथ दिया था। उनकी जीत ने उन तमाम अनुमानों को झूठा साबित कर दिया था जिसमें संघर्ष त्रिकोणात्मक होने और इनके मतों में कुछ इजाफा होने किंतु मुख्य टक्कर जलेश्वर व लाल के बीच ही होने का कयास लगाया गया था। लेकिन अंतत: सारे अनुमान धरे के धरे रह गए थे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2009 के चुनाव में बाघमारा के सारे अनुमान हुए थे गलत