DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यसभा के लिए अखिलेश सौ करोड़ दे रहे थे : माया

राज्यसभा के लिए अखिलेश सौ करोड़ दे रहे थे : माया

बसपा प्रमुख मायावती ने पार्टी छोड़ कर गए पूर्व राज्यसभा सदस्य अखिलेश दास पर आरोप लगाया है कि उन्होंने फिर से राज्यसभा का सदस्य बनाए जाने के लिए सौ करोड़ देने की पेशकश की थी। मायावती ने कहा, अखिलेश ने उनसे दिल्ली में कहा था कि वह जितना चाहें धन ले लें। अखिलेश ने उनसे कहा कि वह पचास या सौ करोड़ तक देने को तैयार हैं, लेकिन मैंने कहा कि 200 करोड़ देने पर भी मैं उन्हें राज्यसभा के लिए दोबारा प्रत्याशी नहीं बनाउंगी। उन्होंने कटाक्ष किया, अखिलेश का दु:ख हम समझ सकते हैं।

मायावती ने कहा, हमें किसी एक व्यक्ति का आर्थिक सहयोग नहीं चाहिए। बसपा धन्नासेठों की पार्टी नहीं है। हमने गरीब और मजलूमों के थोड़े-थोड़े धन से आंदोलन को आगे बढ़ाया है। मायावती ने कहा कि पार्टी केवल उसी व्यक्ति को टिकट देगी, जो बसपा के आंदोलन को आगे बढ़ाएगा और जिसमें बसपा के पक्ष में जनाधार लाने की क्षमता हो।

अखिलेश द्वारा लगाए गए आरोपों पर मायावती ने कहा, वह पहले कांग्रेस में थे। उन्होंने कांग्रेस क्यों छोड़ी, यह भी आप जानते हैं। जब वह बसपा में शामिल हुए तो कांग्रेस और राहुल गांधी पर गंभीर आरोप लगाए थे। बसपा में शामिल होने के बाद अखिलेश ने कहा था कि उन पर भरोसा किया जाए तो वह वैश्य समाज बसपा के साथ जोडेंगे।

साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि वैश्य समाज के लोगों को बसपा के साथ लाने के लिए उनके हाथ मजबूत होने चाहिए, इसलिए उन्हें राज्यसभा में भेजा जाना चाहिए। उन्होंने कहा, हमने भरोसा कर उन्हें राज्यसभा भेजा, लेकिन वह वादे पर खरे नहीं उतरे। वैश्य समाज के लोगों को जोड़ना तो दूर, सत्र के दौरान वह सदन में ही मौजूद नहीं रहते थे। वह केवल अपना कारोबार संभाल रहे थे। माल एवेन्यू स्थित उनके घर के सामने सपा सरकार द्वारा फ्लाईओवर बनाए जाने पर मायावती बोलीं, यह ओछी और घटिया राजनीति का प्रतीक है। इसकी जितनी निन्दा की जाए, कम है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्यसभा के लिए अखिलेश सौ करोड़ दे रहे थे : माया