DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

...तो इसलिए चुनाव नहीं लड़ना चाहती हैं शीला दीक्षित

...तो इसलिए चुनाव नहीं लड़ना चाहती हैं शीला दीक्षित

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान करते हुये आज कहा कि कांग्रेस आलाकमान जो भी आदेश देगा, वह उसका पालन करेगी।

दीक्षित ने एक समाचार टेलीविजन चैनल के साथ बातचीत में कहा कि विधानसभा चुनाव में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच होगा। उन्होंने कहा कि जनता ने पिछली बार अपना फैसला दे दिया था और वह जनता का फैसला स्वीकार कर चुकी हैं।

15 साल तक दिल्ली की सत्ता पर एकछत्र राज करने वाली दीक्षित पिछली बार विधानसभा चुनाव में नई दिल्ली क्षेत्र से अरविंद केजरीवाल से चुनाव हार गई थीं। उन्होंने कहा कि वह अब विधानसभा का चुनाव नहीं लडेंगी और पार्टी के हर आदेश का पालन करेगी। दीक्षित ने कहा कि इस बार चुनाव में मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच होगा। उन्होंने अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुये कहा कि वह केवल अपनी पीठ थपथपाने में लगे हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा का चुनाव हारने के बाद दीक्षित को केरल का राज्यपाल नियुक्त किया गया था। नरेंद्र मोदी सरकार के केंद्र में सत्ता में आने क बाद उन्होंने राज्यपाल पद से इस्तीफा दे दिया था। दिल्ली विधानसभा को भंग कर विधानसभा चुनाव कराये जाने की कैबिनेट की सिफारिश के बाद राजनीतिक क्षेत्रों में इस बात की खासी चर्चा है कि दीक्षित चुनाव लडेंगी अथवा नहीं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:...तो इसलिए चुनाव नहीं लड़ना चाहती हैं शीला