DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वर्धमान धमाके के कनेक्शन की जांच को बिजनौर पहुंची एनआईए

12 सितंबर को जटान में ब्लास्ट में शामिल आतंकियों और पश्चिम बंगाल के वर्धमान में हुए धमाके में शामिल आतंकियों के आपसी कनेक्शन की जांच को मंगलवार को एनआईए की टीम बिजनौर पहुंची।

उच्चपदस्थ सूत्रों के अनुसार अक्तूबर 2013 में खंडवा जेल से फरार होने के बाद महबूब उर्फ गुड्डू उर्फ मलिक, अमजद उर्फ उमर, असलम उर्फ मोहम्मद असलम उर्फ सोहेब उर्फ बिलाल उर्फ संतोष उर्फ इम्तियाज, जाकिर हुसैन सादिक उर्फ विक्की डॉन और एजाजुद्दीन उर्फ एजाज कहां-कहां रहे, यह भी एनआईए जांच रही है।  बिजनौर में भाटान में रईस अहमद के मकान में इनके साथ मोहम्मद सलिक उर्फ सल्लू भी था। सूत्रों का दावा है कि वर्धमान बम धमाके के जिम्मेदार आतंकियों के बिजनौर में रह रहे आतंकियों से कोड भाषा में लिखे ईमेल के जरिये संदेशों का आदान प्रदान हुआ था, इसे एनआइए डिकोडिंग करने की कोशिश कर रही है।

हालांकि सीओ सिटी राजेश कुमार सिंह का कहना है कि एनआईए की टीम ने यहां आकर हमसे अभी कोई संपर्क नहीं किया है। एनआईए स्वतंत्र जांच एजेंसी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वर्धमान धमाके के कनेक्शन की जांच को बिजनौर पहुंची एनआईए