DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कामडारा नरसंहार के मृतक आश्रितों को नौकरी का एलान

पीएलएफआई द्वारा सोमवार को मारे गए सभी सात लोगों की मंगलवार को शिनाख्त हो गई। घटना के विरोध में स्थानीय लोगों ने बसिया में सड़क जाम किया। कामडारा पहुंचे मुख्य सचिव सजल चक्रवर्ती ने सरकार की ओर से मृतकों के आश्रितों को एक-एक लाख रुपए का चेक सौंपा। उन्होंने पीड़ित परिवारों को शीघ्र सरकार की ओर से तीन-तीन लाख रुपए और एक-एक आश्रित को नौकरी का आश्वासन दिया। इसके अलावा बसिया-कामडारा ब्लॉक की ओर से मारे गये ग्रामीणों के अंतिम संस्कार के लिए तीन-तीन हजार की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई गई। इससे पूर्व बसिया थाना परिसर में ही सभी सातों ग्रामीणों के शवों का पोस्टमार्टम किया गया।

उग्रवादियों के खिलाफ अभियान : सात हत्याओं से थर्राए इलाके में पुलिस ने उग्रवादियों के खिलाफ सघन अभियान छेड़ दिया है। सोमवार रात रांची जोन के आईजी एमएस भाटिया और एसटीएफ के आईजी आरके मल्लिक ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली।

सघन अभियान की जरूरत: सजल 
मुख्य सचिव सजल चक्रवती ने मंगलवार को कामडारा में कहा कि नक्सलियों के खिलाफ कारो ऑपरेशन से भी ज्यादा सघन अभियान चलाने की जरूरत है। उन्होंने नक्सलियों के खिलाफ खुफिया तंत्र के फेल होने के साथ कारो ऑपरेशन को रोके जाने को भी गैरमुनासिब माना। उन्होंने नक्सली हमले में मारे गए ग्रामीणों के शोक-संतप्त परिजनों को सरकार के स्तर पर हर संभव मदद का भरोसा दिया। इस दौरान डीसी गौरी शंकर मिंज, एसडीओ बसिया अनिल तिर्की, बीडीओ स्वेता कुल्लू सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कामडारा नरसंहार के मृतक आश्रितों को नौकरी का एलान