DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईएसओ अंधेरा, क्वालिटी राहजनी

इसे राजनीतिक बयान न माना जाए कि अंधेरा अपने चरित्र में समाजवादी होता है, सबको उपलब्ध, बिना कुछ खर्च किए। बिजली का चरित्र पूंजीवादी है, वह सिर्फ उसे उपलब्ध होती है, जो उसकी कीमत चुकाने को तैयार हो। हाल में एक मुख्यमंत्री की मीटिंग में बिजली गायब हुई और अंधेरा छा गया। इसे समाजवाद का प्रतिफलन ही माना जाए। बिजली की मांग करने वाले हर बंदे को पूंजीवादी चरित्र का घोषित करना बनता है इस समाजवादी बैकग्राउंड में। अंधेरा, राहजनी अब जाने वाले नहीं हैं, गुंडई रहने वाली है, तो फिर क्यों न इनकी गुणवत्ता में ही सुधार कर लिया जाए? यूं कहा जाए कि हमारा अंधेरा समाजवादी अंधेरा है, आईएसओ-9000 क्वालिटी वाला। दूसरे अंधेरे नॉर्मल टाइप के हैं। मेरे इलाके में चेन-स्नेचिंग विकट है। महिलाएं सोने की चेन नहीं पहनतीं। यहां के राहजनों को अपनी गुणवत्ता में सुधार करना चाहिए। हफ्ते में एक दिन चेन-स्नेचिंग की छुट्टी करके इलाके की मां-बहनों को चेन वगैरह पहनने का मौका देना चाहिए। इलाके में परचे-पोस्टर बंटवा देने चाहिए कुछ इस तरह के- राहजन संघ (आईएसओ-9001 प्रमाणित संघ) आश्वस्त करता है कि संडे को राहजनी नहीं होगी। राहजनी की स्पेशल ट्रेनिंग हमारे सदस्यों को दी गई है।

इससे चेन खींचने की प्रक्रिया में मां-बहनों को न्यूनतम कष्ट होगा। हम आश्वस्त करते हैं कि हमारे संघ के हर सदस्य के थैले में डेटॉल और प्राथमिक चिकित्सा की व्यवस्था होगी। जिन मां-बहनों को इस प्रक्रिया में चोट आए, वे संबंधित झपटमार से डेटॉल वगैरह मांग सकती हैं। हमारा लक्ष्य न्यूनतम कष्ट देते हुए चेन खींचना है। शीघ्र ही राहजनों को पहचान-पत्र जारी कर दिए जाएंगे, मां-बहनें इन कार्ड-धारियों को देखते ही अपनी चेन इनके हवाले कर दें। इससे सभी के कष्ट कम हो जाएंगे। इधर मैंने गुंडागर्दी, डकैती, अंधेरगर्दी, राहजनी के खत्म होने की उम्मीद छोड़ दी है, बस इनमें गुणवत्ता बढ़ोतरी की उम्मीद करने लगा हूं। भाई डकैत, शनिवार को डाका डाल लेना, ताकि संडे छुट्टी में थोड़ा टाइम मिल जाए। प्लीज, थोड़ा क्वालिटी-कॉन्शस बनो डाकू भाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईएसओ अंधेरा, क्वालिटी राहजनी