DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ताजिये निकाले जाते समय भिड़ गए दो समुदाय के लोग

बिथरी में मंगलवार को मोहर्रम के जुलूस के दौरान हालात बिगड़ गए। कथित रूप से नए रास्ते पर ताजिए ले जाने को लेकर दो समुदायों के लोग आपस में भिड़ गए। जमकर पत्थरबाजी, मारपीट, घरों और वाहनों में तोड़फोड़ हुई।

हिंसा शुरू होते ही बिथरी थाने में मौजूद पुलिसकर्मी भाग खड़े हुए। बाद में फोर्स जुटा तो भी संघर्ष जारी रहा। एसपी सिटी के साथ पहुंची कई थानों की पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ दिया। घटना के बाद पूरे इलाके में तनाव है। प्रशासन ने बिथरी को छावनी बना दिया है। कमिश्नर, डीआईजी और डीएम वहां डेरा जमाए हैं।


अफसरों के मुताबिक, दोपहर करीब डेढ़ बजे बिथरी में ताजिये जुट रहे थे। इसी बीच एक गली में ताजिए ले जाने को लेकर ताजियेदारों का वहां रहने वाले लोगों से विवाद हो गया। रास्ते को लेकर हुआ दो समुदायों का विवाद देखते-देखते बड़े संघर्ष में बदल गया। जुलूस में सैकड़ों लोग मौजूद थे और दूसरी ओर भी लोग जमा होकर भिड़ गए। इंस्पेक्टर बिथरी एसएस यादव उस वक्त बिथरी में नहीं थे। पीछे थाने के पास दो समुदायों में जमकर मारपीट, पथराव, तोड़फोड़ शुरू हो गई। आसपास जो भी वाहन दिखे, उपद्रवियों ने उनमें तोड़फोड़ की।

कई घरों में भी तोड़फोड़ और महिलाओं से मारपीट की गई। कितने ही लोगों के सिर फूट गए। फसाद के दौरान बिथरी थाने से पुलिसकर्मी भाग लिए।
सूचना पर इंस्पेक्टर जीप से बिथरी पहुंचे मगर हालात नहीं काबू कर सके। सूचना पर एसपी सिटी राजीव मल्होत्र अतिरिक्त फोर्स के साथ वहां पहुंचे। फिर भी उपद्रवी मारपीट, पथराव, तोड़फोड़ करते रहे तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर सबको खदेड़ दिया। बाद में कमिश्नर विपिन द्विवेदी, डीआईजी रेंज आरकेएस राठौर, डीएम संजय कुमार, एडीएम प्रशासन अरुण कुमार, एडीएम सिटी आलोक कुमार अतिरिक्त पुलिस बल के साथ बिथरी पहुंच गए। अफसरों ने चारों ओर फोर्स तैनात कराकर कड़ी सुरक्षा में ताजिए निकाले। समाचार लिखे जाने तक सभी पुलिस प्रशासनिक अधिकारी बिथरी में ही कैंप किए थे और पुलिस-पीएसी का फ्लैग मार्च जारी था।
--
दो समुदायों में विवाद के बाद बिथरी में हालात अब सामान्य हैं। पूरे घटनाक्रम की जांच कराई जा रही है। कस्बे में पुलिस-पीएसी तैनात है और गश्त जारी है। खुराफातियों की धरपकड़ कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा, उस पर कार्रवाई होगी।
- संजय कुमार, डीएम बरेली

बिथरी में संघर्ष के बाद पुलिस-प्रशासन एकपक्षीय कार्रवाई करने में लगा है। एक ही समुदाय के लोग पकड़कर बंद किए जा रहे हैं। भाजपा इसे लेकर चुप नहीं बैठेगी। प्रशासन बिथरी मामले में निष्पक्ष कार्रवाई नहीं की तो भाजपा सड़कों पर उतरेगी।
- धर्मेन्द्र कश्यप, सांसद आंवला

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ताजिये निकाले जाते समय भिड़ गए दो समुदाय के लोग