DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्रत और त्योहार/ पंचांग (5 नवंबर, 2014)

प्रदोषकाल व्यापिनी में वैकुण्ड चतुर्दशी व्रत। अवम (14 तिथि क्षय) निशीध में श्री विष्णुपूजा। अरुणोदय में मणिकर्णिका स्नान। श्री काशी विश्वनाथ प्रतिष्ठान दिवस। नर्मदेश्वर शिवलिंग को तुलसी समर्पण। पंचक शाम 4:57 तक। सूर्य दक्षिणायन। सूर्य उत्तर गोल। मध्याह्न 12 से 1:30 तक राहुकालम। बुधवार, 14 कार्तिक (सौर) शक 1936। कार्तिक मास 21 प्रविष्टे। कार्तिक शुक्ल त्रयोदशी प्रात: 7:39 तक तदनन्तर चतुर्दशी 5:36 तक उपरांत पूर्णिमा, रेवती नक्षत्र 4:57 तक तदनन्तर अश्विनी नक्षत्र, वज्र योग सायं 6:41 तक पश्चात सिद्धि योग, चंद्रमा 4:57 तक मीन राशि में उपरांत मेष राशि में।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:व्रत और त्योहार/ पंचांग (5 नवंबर, 2014)