DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुजरात से शेरों का एक और जोड़ा इटावा लाने की तैयारी

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट लॉयन सफारी में ब्रीडिंग का कार्य शुरू करा दिया गया है। पहले दौर में सबसे पहले सफारी में लाये गये शेरों के जोड़े मनन व क्वारी का मिलन कराया गया है। अब अन्य जोड़ों का भी मिलन कराया जाएगा। इधर चौथे जोड़े की कमी को पूरा करने के लिए गुजरात से शेरों का एक और जोड़ा लाने की तैयारी चल रही है। यह जोड़ा दिसम्बर के दूसरे या तीसरे सप्ताह में सफारी पहुंचने की उम्मीद है।


शेर मनन व क्वारी को ब्रीडिंग सेंटर नम्बर 1 में रखा गया है। ब्रीडिंग सेंटर के परिसर में ही पिछले दो दिनों से इनका मिलन कराया जा रहा है। इस दौरान सफारी से जुड़े अधिकारी पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। मुख्य वन संरक्षक वन्य जीव रूपक डे ने बताया कि सभी तीनों जोड़े पूरी तरह स्वस्थ हैं। उनकी बेहतर देख रेख की जा रही है।
श्री डे ने बताया कि गुजरात से शेरों का एक और जोड़ा लाया जाना है। इसके लिए कार्यवाही तेजी से चल रही है। इस बात की पूरी संभावना है कि दिसम्बर के दूसरे या तीसरे सप्ताह में शेरों का यह जोड़ा सफारी में आ जाएगा। उन्होंने कहा कि सफारी प्रशासन शेरों को ब्रीडिंग के लिए प्राकृतिक माहौल उपलब्ध करा रहा है। जल्द ही तीनों जोड़ों का मिलन करा दिया जाएगा।

इनसेट-
बीमार शेर को देखने अस्पताल नहीं गये मंत्री
इटावा। मुख्यमंत्री के निर्देश पर लॉयन सफारी की व्यवस्था देखने आये जंतु उद्यान मंत्री डॉ.शिव प्रसाद यादव पिकनिक स्पॉट तथा ब्रीडिंग सेंटर तो गये लेकिन वे सफारी में बने अस्पताल नहीं गये। इसी अस्पताल में बीमार शेर विष्णु का उपचार चल रहा है। बताया गया कि इंफेक्शन की आशंका के चलते जंतु उद्यान मंत्री तथा अन्य अधिकारियों को अस्पताल नहीं ले जाया गया।

इनसेट-
कोर जोन से बाहर होगा पिकनिक स्पॉट
इटावा। लॉयन सफारी में शेरों के घूमने के लिए जो 50 हेक्टेयर का कोर जोन बनाया गया है। अब पिकनिक स्पॉट इस कोर जोन से बाहर होगा ताकि खतरे की कोई आशंका न रहे। इस पिकनिक स्पॉट पर सफारी में आने वाले पर्यटक जाएंगे। इसलिए इस बात के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं कि उन्हें कोई खतरा उत्पन्न न हो। इसके साथ ही पिकनिक स्पॉट को काफी उम्दा किस्म का बनाया जाएगा ताकि पर्यटकों को यहां आने के लिए आकर्षित किया जा सके।

इनसेट-
सफारी में शेरों को छोड़ने में एक साल लगेगा
इटावा। मुख्य वन संरक्षक रूपक डे ने बताया कि सफारी में शेरों को खुले में विचरण के लिए छोड़ने में अभी एक साल का समय लगेगा। फिलहाल सफारी की भौगोलिक स्थिति ऐसी नहीं है जिसमें शेरों को छोड़ा जा सके। अभी वहां काफी काटें हैं। शेरों के पंजे गद्देदार व मुलायम होते हैं और इन्हें काटों से नुकसान पहुंच सकता है। ब्रीडिंग सेंटर को तो पूरी तरह से कांटा मुक्त कर दिया गया है। अब जब पूरे परिसर से कांटे तथा अन्य नुकीली वस्तुओं को हटा दिया जाएगा तभी शेरों को खुले में छोड़ा जाएगा। इस कार्य में एक साल का समय लग सकता है।

इनसेट-
दस शावकों के होने पर खोली जाएगी सफारी
इटावा। नियमों के अनुसार लॉयन सफारी को पर्यटकों के लिए तभी खोला जाएगा जब इसमें कम से कम दस शावक हो जाएंगे। इसी लिए ब्रीडिंग का कार्य शुरू करा दिया गया है ताकि जल्द ही सफारी क्षेत्र में दस शावक हो जाएं ताकि इसे पर्यटकों के लिए खोला जा सके।

इनसेट-
डेढ़ माह से बीमार चल रहा है विष्णु
इटावा। लॉयन सफारी में शेर विष्णु तथा शेरनी लक्ष्मी पिछले लगभग डेढ़ माह से बीमार चल रहे हैं। इनकी स्थिति ज्यादा बिगड़ने पर इन्हें 23 सितम्बर को सफारी के अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां 30 अक्टूबर को शेरनी लक्ष्मी की मौत हो गई जबकि शेर विष्णु की हालत गंभीर है। शेरनी लक्ष्मी की मौत के बाद सफारी प्रशासन की चिंता बढ़ी है।

इनसेट-
हाथी, भेडिया, लकड़बग्घा व भालू सफारी बनेगी
इटावा। लॉयन सफारी के निरीक्षण के दौरान जंतु उद्यान मंत्री शिव प्रसाद यादव ने बताया कि लॉयन सफारी के साढ़े तीन सौ हेक्टेयर क्षेत्र में ही भेड़िया, लकड़बग्घा व भालू के लिए भी सफारी बनाई जाएगी, जबकि एलीफेंट रेसक्यू सेंटर लॉयन सफारी क्षेत्र से बाहर बनेगा। इसके लिए काली बांह मंदिर के पीछे का क्षेत्र चुना गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुजरात से शेरों का एक और जोड़ा इटावा लाने की तैयारी