DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कूड़े को रीसाइकिल करना होगा आसान

उत्तर प्रदेश में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की वर्तमान व्यवस्था प्रभावी न होने पर अब हर शहर में छोटे-छोटे प्लांट लगाने का प्रस्ताव आया है। इसके लिए शहरी विकास मंत्रालय ने पहल की है। मंत्रालय के संयोजन में दिल्ली के निर्माण भवन में शनिवार को नीदरलैंड की कंपनी ने अपना प्रजेंटेशन दिया। इससे प्रभावित मंत्रलय के सचिव ने प्रदेश सरकार को इसके अनुरूप रोड मैप बनाने और संबंधित कंपनी की सूची उपलब्ध कराने को कहा है।


शहरी विकास मंत्रलय के सचिव शंकर अग्रवाल और भारत में नीदरलैंड के एंबेसडर अलफांसुस इस्टीएलिंगा की उपस्थिति में हुए इस प्रजेंटेशन में बताया गया कि दो से चार सौ घरों के लिए अलग-अलग रीसाइक्लिंग प्लांट लगाये जा सकते हैं। इससे खाद, गैस या बिजली बनाई जा सकती है। इसका फायदा संबंधित घर के लोगों को ही मिलेगा। नीदरलैंड की इस तकनीक का हिमाचल प्रदेश में प्रयोग हो रहा है। मंत्रलय के अधिकारियों ने बताया कि वर्तमान में पूरे शहर का कूड़ा एक जगह डंप करना और पूरे शहर के लोगों से केंद्रीकृत व्यवस्था में टिपिंग-फी वसूलना आसान नहीं हो रहा है। इस विकेंद्रीकृत व्यवस्था में दोनों समस्या का समाधान हो जाएगा। यह प्रदेश सरकार को तय करना है कि इसके लिए कैसे मॉडल तैयार किया जाएगा। ऐसे में अब उत्तर प्रदेश सरकार को इस दिशा में एक विकल्प मिल जाएगा। वह पुरानी कंपनियों से अपने समझौते को खत्म कर, नया अनुबंध कर सकती है।

प्रदेश सरकार बनाएगी रोड मैप
सचिव शहरी विकास मंत्रलय शंकर अग्रवाल ने बैठक में उपस्थित निदेशक स्थानीय निकाय पीके सिंह से कहा है कि इसके अनुरूप रोड मैप तैयार करें। ये भी देखें कि इसके लिए कंपनी हैं या नहीं। हैं तो उनकी सूची उपलब्ध कराई जाए। ताकि समझौते में कोई दिक्कत न आए।

भारत के लिए बनाएंगे मॉडल
इस राउंड टेबिल डिस्कशन में शामिल जलकल महाप्रबंधक बीके पांडेय ने बताया कि मंत्रलय के अधिकारियों ने नीदरलैंड की उक्त कंपनी से भारत के अनुकूल मॉडल तैयार करने को कहा है। विशेषज्ञों से इस बारे में जानकारी मांगी है कि इसे कैसे प्रभावी तरीके से प्रयोग में लाया जा सके।

वर्तमान व्यवस्था से सभी खिन्न
प्रदेश में पीपीपी मॉडल से प्रस्तावित व्यवस्था से बैठक में शामिल सभी शहरों के अधिकारी खिन्न दिखे। इलाहाबाद, लखनऊ, कानपुर, आगरा, गाजियाबाद के नगर आयुक्तों ने अपने-अपने शहर का हाल बयां किया। लगभग सभी जगह संबंधित कंपनी का काम बंद चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कूड़े को रीसाइकिल करना होगा आसान