DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तापमान ने बढ़ाई लोगों की परेशानियां

दिवाली के बाद से मौसम में शुरू हुआ बदलाव का सिलसिला लोगों की सेहत पर भारी पड़ने लगा। सुबह-शाम तापमान में हो रहे उतार चढ़ाव से लोग बीमारियो की गिरफ्त में आने लगे हैं। ज्यादातर लोग सर्दी-खासी, जुकाम, बुखार व सांस रोग के शिकार होने लगे हैं। सरकारी अस्पताल बादशाह खान सहित निजी अस्पतालों की ओपीडी ऐसे मरीजों से भरी हुई हैं। ऐसे मरीजों की संख्या में 25 फीसदी वृद्धि हो गई है। सिर्फ बीके अस्पताल में बुखार से पीड़ित रोजाना डेढ़ सौ से अधिक मरीजों के खून के नमूने लेकर जांच की जा रही है।

दरअसल, सुबह- शाम ठंड और दोपहर में गर्मी है। इससे लोग वायरल के शिकार हो रहे हैं। इसकी शुरूआत गले में खराश से शुरू होती है। इनमें से कुछ लोग तेज बुखार के शिकार हो जाते हैं। सामान्य रोग विशेषज्ञों के अनुसार यह बीमारी न्यूनतम पांच से सात दिनों तक रहती है। इसके बाद मरीज काफी कमजोर हो जाता है। इस दौरान मरीज को सर्दी, खांसी, जुकाम और शरीर में दर्द होने की शिकायत भी होती है। इससे मरीज को काफी परेशान कर रहे हैं।
-----------------------
बच्चे और बुजुर्ग ज्यादा परेशान
मौसम का बदलता तेवर बुजुर्ग और बच्चों पर ज्यादा भारी पड़ रहा है। सुबह-शाम की ठंड इन दोनों के लिए नुकसान दायक है। बुजुर्ग सैर के लिए सुबह जल्द नहीं जा पाते हैं। साथ ही मां की हल्की सी लापरवाही भी बच्चाे को बीमार कर रही है। बीमारी से बचाव के लिए बच्चाों को पूरे कपड़ों में रखना ही सबसे बड़ा उपाय है। दिवाली के बाद हवा में घुली बारुद की गंध भी सांस रोगियों को परेशान किए हुए है। हालांकि पहले के मुकाबले वायु प्रदूषण काफी कम हुआ है, लेकिन फिर भी बाकी धुल के कण ऐसे रोगियों के लिए नुकसान दायक हैं। जिनसे बचने के लिए बुजुर्ग को सुबह देर से सैर पर निकलना चाहिए। तब तक कण काफी कम हो जाते हैं।

---------------------
बीके अस्पताल के चेस्ट रोग विशेषज्ञ डा. योगेश गुप्ता के अनुसार इस मौसम में निमोनिया व सांस के रोगियों की संख्या बढ़ जाती है। इस मौसम में वायरस सक्रिय हो जाता है। जो शारीरिक रुप से कमजोर व्यक्ति पर आक्रमण कर देता है।
 
सामान्य रोग विशेषज्ञ डॉ. विनय गुप्ता: मौसम में हो रही बदलाव के कारण कुछ लोग इंफेक्शन के शिकार हो रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से सर्दी-खासी, जुकाम व बुखार के मरीज अधिक आ रहे हैं।  
 

              
इनका रखें ख्याल
-    सुबह और शाम के समय बच्चाों को पूरे कपड़े में रखे
-    सैर के लिए निकलते समय मौसम के अनुरूप कपड़ा पहने
-    गर्मी लगने पर थोड़ी बदास्त करें
-    पानी उबाल कर लें
-    फ्रीज में रखी चीज न खाएं
-    साफ सफाई पर ध्यान दें
-    गर्मी से आने के बाद ठंड पानी का सेवन न करें
-    तबीयत ठीक न होने पर डॉक्टर की सलाह लें

वायरल के लक्षण
-लगातार छीक आना, शरीर में दर्द, खासी, सांस लेने में दिक्कत होना, नाक बहना और तेज बुखार आना

क्या करें
- डॉक्टर से तुरंत सलाह लें
- एसी और कूलर से अचानक बाहर न निकलें
-एजर्ली की पहचान कर उससे बचें
- साफ सफाई पर ध्यान दें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तापमान ने बढ़ाई लोगों की परेशानियां