DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतरिक्ष से पृथ्वी का उभार मापेगा नासा का दूरबीन

अंतरिक्ष से पृथ्वी का उभार मापेगा नासा का दूरबीन

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिकों ने बर्फ, बादलों एवं भूमि के उभार मापने वाले उपग्रह संख्या 2 (आईसीईसैट-2) में लेजर तकनीक वाला दूरबीन लगाया है। अब यह उपग्रह अंतरिक्ष से पृथ्वी की आकृति माप सकता है।

यह दूरबीन व्यक्तिगत लेजर फोटॉन की तस्वीरें खींच सकता है, जो उपग्रह से पृथ्वी और पृथ्वी से उपग्रह तक 600 मील से ज्यादा की यात्रा करते हैं। नासा ने एक बयान में कहा कि इस अध्ययन से प्राप्त जानकारियां वैज्ञानिकों को पृथ्वी के बर्फ से ढके ध्रुवों, वनों की जानकारी, समुद्र की सतह और बादलों की विशेषताओं को जांचने में मदद करेंगी।

आईसीईसैट-2 का एकल उपकरण एडवांस टोपोग्राफिक लेजर अल्टीमेटर सिस्टम (एटीएलएएस) है। अंतरिक्ष में स्थापित किए जाने के बाद एटीएलएस प्रकाश को पृथ्वी की सतह तक पहुंचने और वहां से वापस आने में लगने वाला समय पता करने में सक्षम होगा।

अमेरिका में मेरीलैंड के ग्रीनबेल्ट स्थित नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर में एटीएलएएस उपकरण की एकीकरण एवं परीक्षण प्रबंधक कैरोल लिली ने कहा कि कंप्यूटर के माध्यम से प्रकाश की यात्रा की दूरी और समय का विेषण कर वैज्ञानिक सतह की ऊंचाई का पता लगा सकते हैं।

एटीएलएएस के सभी घटकों का परीक्षण पूरा हो जाने के बाद इस उपकरण को एरिजोना के गिल्बर्ट स्थित ऑर्बिटल साइंसेज कॉर्पोरेशन में पहुंचाया जाएगा, जहां इसे अंतरिक्ष विमान के साथ जोड़ दिया जाएगा। उसके बाद आईसीईसैट-2 को लांच के लिए कैलिफोर्निया के वैंडेनबर्ग एयर फोर्स बेस ले जाया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंतरिक्ष से पृथ्वी का उभार मापेगा नासा का दूरबीन