DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उमा भारती ने अपने पैतृक गांव सड़कोरा को ही गोद लिया

केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने अपने पैतृक गांव सड़कोरा को ही गोद लेने का ऐलान किया। हालांकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नसीहत थी कि आर्दश ग्राम योजना के तहत सांसद अपने पैतृक गांव या ससुराल के गांव को गोद लेने से बचें।

 रविवार की देर शाम केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती लोक निर्माण विभाग के विश्रम गृह पहुंची जहां उन्होंने प्रेसवार्ता करके पैतृक गांव सड़कोरा के विकास के लिए गोद लेने की घोषणा की। यह पूछने पर कि प्रधानमंत्री ने पैतृक गांव गोद न लेने की नसीहत दी है, उमा भारती ने कहा कि इसके साथ ही और गांवों के विकास पर भी ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने कहां जहां तक गोद लेने की बात है अगले साल दूसरा गांव लेकर विकास कराएंगी। उन्होंने बताया कि जनपद को राजघाट व माताटीला बांध से उत्पादित हो रही बिजलीे दिलाये जाने के लिये मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश के अधिकारियों की एक टीम गठित की गई है जो 90 दिनो में अपनी रिपोर्ट मंत्रलय को सौंप देगी। उन्होंने कहा कि झांसी-ललितपुर में स्थित 1857 की प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई से जुड़े स्थलों का विकास कराया जायेगा। इसके लिये डीपीआर बनाने के निर्देश दिये गये है। इसके अतिरिक्त संसदीय क्षेत्र में बालिका स्कूलों में शौचालयों में निर्माण कराया जायेगा। गंगा की सफाई के बारे में पूछे गये सवाल पर उन्हांेने कहा कि गंगा में अस्थि विसर्जन पर रोक नहीं लगाई है, चूकि गंगा के किनारे अस्थियां रह जाती हैं, जिससे उनका अपमान होता है। राबर्ट बाड्रा के मीडिया से बदसलूकी के मुददे पर कहा कि सवालों के जवाब शान्ति से देना चाहिये, इस तरह क्रोध दिखाना उचित नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उमा भारती ने अपने पैतृक गांव सड़कोरा को ही गोद लिया