DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी परीक्षाओं को नकल विहीन कराने के निर्देंश

माध्यमिक शिक्षामंत्री महबूब अली ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट 2015 की परीक्षाएं नकलविहीन बनाने के लिए कड़े निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जिस जिले में नकल माफिया अधिकारियों को परेशान करें, उसकी सूचना तुरंत उन्हें दी जाए।


यहां विभागीय समीक्षा बैठक में उन्होंने अधिकारियों को चेतावनी दी कि परीक्षा केन्द्रों के निर्धारण और एलटी ग्रेड की नियुक्तियों में अनियमितता की शिकायत आने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों के संबंध में उन्होंने कहा कि परीक्षा केन्द्रों में छात्र-छात्रओं को एक साथ बैठाने के प्रस्ताव पर भी विचार किया जा रहा है। परीक्षा के समय केन्द्रों के निरीक्षण में कोई कमी नहीं होनी चाहिए। परीक्षा केन्द्रों का निर्धारण मानक के अनुरूप हो और  पूरी पारदर्शिता बरती जाए।

श्री अली ने शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए कहा कि अधिकारी व शिक्षक मेहनत एवं लगन से काम करें। पिछले तीन वर्षो से विभाग एक भी मॉडल स्कूल का निर्माण पूरा नहीं कर पाया, ये स्थिति चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि भवनों के निर्माण में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए और जिन निर्माण एजेन्सियों के निर्माण कार्य की गुणवत्ता खराब हो उनसे रिकवरी की जाए। उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ब्लैक लिस्ट किया जाए।


श्री अली ने आजमगढ़, इलाहाबाद, आगरा, गोरखपुर, अलीगढ़ और वाराणसी मण्डलों में शिक्षा की स्थिति में सुधार की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि शिक्षा सत्र के समय में बदलाव से किसी भी अध्यापक का कोई अहित नहीं होगा। नियमानुसार शिक्षकों को शिक्षण सत्र का लाभ पहले की तरह मिलता रहेगा। बैठक में राज्यमंत्री विनोद कुमार उर्फ पण्डित सिंह, विजय बहादुर पाल, विभागीय प्रमुख सचिव एसपी सिंह, निदेशक अवध नरेश शर्मा समेत अपर निदेशक, सभी मंडलों के संयुक्त निदेशक और डीआईओएस मौजूद थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी परीक्षाओं को नकल विहीन कराने के निर्देंश