DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निर्दलीय प्रत्याशी बना वोटों का बादशाह

पिछले तीन विधानसभा चुनावों में सबसे अधिक वोट पाने का रिकॉर्ड एक निर्दलीय उम्मीदवार के नाम है। ये हैं समरेश सिंह। समरेश सिंह ने 2000 के विधानसभा चुनाव में बोकारो सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में 97, 712 वोट पाए थे। यह वोट उन्हें बिहार राज्य के चुनाव के दौरान मिले। उसी साल राज्य अलग होने के बाद वह झारखंड विधानसभा में सबसे अधिक मत पाने वाले विधायक बन गए। इसके बाद झारखंड में 2005 और 2009 में हुए विधानसभा चुनाव में कोई भी उम्मीदवार यह रिकार्ड नहीं तोडम् पाया।

प्रदेश गठन के बाद मतों का ग्राफ लगातार गिरता गया। 2005 में धनबाद के भाजपा उम्मीदवार पीएन सिंह ने सर्वाधिक 83 हजार 691 मत हासिल किए। 2009 के चुनाव में निरसा सीट से मासस प्रत्याशी अरूप चटर्जी को 68,965 वोट मिले। प्रदेश के विधानसभा चुनाव में सबसे अधिक वोट पाने का रिकॉर्ड कोयलांचल के उम्मीदवार ही बनाते रहे हैं। भाजपाई हैं टॉप-5 में : प्रदेश के तीन विधानसभा चुनावों में सबसे अधिक वोट पाने वाले इन दिनों भाजपा में हैं। इनमें से समरेश सिंह ने सबसे अधिक वोट पाने का रिकॉर्ड निर्दलीय रहकर बनाया है।

लेकिन इनकी पृष्ठभूमि भाजपा से ही जुडम्ी रही है। कोयलांचल के टॉप-5 नाम क्षेत्र पार्टी वोट साल समरेश सिंह बोकारो निर्दलीय 97,712 2000 पीएन सिंह धनबाद भाजपा 83,691 2005 पीएन सिंह धनबाद भाजपा 74,331 2000 अरूप चटर्जी निरसा मासस 68,965 2009 प्रदेश के टॉप-5 समरेश सिंह बोकारो निर्दलीय 97,712 2000 पीएन सिंह धनबाद भाजपा 83,691 2005 अर्जुन मुंडा खरसांवा भाजपा 74,797 2005 पीएन सिंह धनबाद भाजपा 74,331 2000 सीपी सिंह रांची भाजपा 74,239 2005 संतालपरगना के टॉप-5 प्रदीप यादव पोरेयाहाट भाजपा 72,342 2005 आलमगीर आलम पाकुडम् कांग्रेस 71,736 2005 प्रदीप यादव पोरेयाहाट जेवीएम 67,105 2009 हेमलाल मुर्मू बरहेट झामुमो 66,599 2000 उदयशंकर सिंह सारठ राजद 66,335 2005

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निर्दलीय प्रत्याशी बना वोटों का बादशाह