DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कई नक्सली भी आजमाएंगे किस्मत

इस बार विधानसभा चुनाव में कई पूर्व नक्सली अपना भाग्य आजमाएंगे। वहीं एक दर्जन से अधिक राजनीतिक दल के नेता नक्सलियों के संपर्क से चुनाव जीतने की जुगत लगा रहे हैं। इस बार के विधानसभा चुनाव के पहले भी लोकसभा चुनाव में पूर्व नक्सलियों ने अपने प्रभाव क्षेत्र में उपस्थिति दर्ज करायी थी। इस बार आजसू के टिकट से पूर्व नक्सली कमांडर युगल पाल चुनाव लड़ने के मूड में हैं।

लातेहार से एक पूर्व बड़ा नक्सली आदित्य भोक्ता भाजपा से टिकट लेने के चक्कर में है। इसके लिए कई नेता पैरवी भी कर रहे हैं। चतरा से एक नक्सली कमांडर की पत्नी ममता देवी भी चुनाव लड़ सकती है। सिमरिया विधानसभा क्षेत्र से टीपीसी सुप्रीमो ब्रजेश गंझू का भाई गणेश गंझू उम्मीदवार हो सकता है। बीते विधानसभा चुनाव में वह दूसरे स्थान पर रहा था। वहीं जेएमएम का तोरपा प्रत्याशी पौलूस सुरीन को पीएलएफआइ का पूरा समर्थन है। कोलेबिरा के विधायक एनोस एक्का को भी पीएलएफआइ का समर्थन प्राप्त है। लोकसभा चुनाव में भी एनोस एक्का चुनाव मैदान में थे। उस समय पीएलएफआइ ने खुले तौर पर उनके लिए काम किया था। टीपीसी को भाजपा समर्थक संगठन माना जाता है। खूंटी से भी पूर्व नक्सली मसीहचरण पूर्ति चुनाव लड़ सकता है। बीते विधानसभा चुनाव में जेल में रहते हुए वह दूसरे स्थान पर रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कई नक्सली भी आजमाएंगे किस्मत