DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के आदेशपाल : ज्ञानू

जदयू से निकाले जाने पर अपनी प्रतिक्रिया में बागी विधायकों के अगुआ ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू ने कहा कि अभी उन्हें पत्र नहीं मिला है, लेकिन यह प्रत्याशित था। उन्होंने कहा कि जदयू अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह का अपना कोई अस्तित्व नहीं है। वे नीतीश कुमार के आदेशपाल हैं। श्री सिंह ने तो पार्टी में रहते दल की प्रत्याशी मीना सिंह के खिलाफ और राजद प्रत्याशी कांति सिंह के लिए प्रचार किया था। ज्ञानू ने कहा कि नीतीश कुमार की हालत आंख मूंद कर दूध पीती बिल्ली जैसी हो गई है जिसे लगता है उसे कोई नहीं देख रहा। पर जनता सब देख रही है। ज्ञानू ने दावा किया कि जदयू के 24 विधायक उनके साथ हैं और आनेवाले दिनों में सभी मिल बैठकर तय करेंगे कि अलग पार्टी बनानी है या किसी दल में जाना है। स्पीकर कोर्ट के फैसले के खिलाफ सोमवार को हम चारों हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के आदेशपाल : ज्ञानू