DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कारमेल जूनियर में नहीं बैठ सके बीएलओ

पूर्वी सिंहभूम जिले में 1,622 पर वोटरलिस्ट में नाम जोड़ने का अभियान रविवार को चला। इसमें कारमेल जूनियर कॉलेज सोनारी के चार बूथ शामिल नहीं हैं क्योंकि यहां के दरबान ने बूथ लेवल अफसर (बीएलओ) को स्कूल में घुसने ही नहीं दिया। 

उधर, सभी बूथों पर बीएलओ पहुंचे और नाम जोड़ने के इच्छुक लोगों को फार्म सिक्स उपलब्ध कराया। हालांकि, शाम तक कुल कितने फार्म जमा हुए, इसकी जानकारी नहीं मिल सकी। सभी बीएलओ को 25-25 फार्म उपलब्ध कराए गए थे।

दरबान ने निर्वाचन निबंधन अधिकारी को भी लौटाया

कारमेल जूनियर के दरबान ने गेट खोलने से ही इनकार कर दिया। सूत्रों के अनुसार मामला प्राचार्य तक भी पहुंचा, लेकिन गेट नहीं खोला गया। हद तो यह हो गई कि जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी (ईआरओ) सह जिला परिवहन पदाधिकारी संजय पीएम कुजूर जानकारी पाकर खुद वहां पहुंचे और दरबान से गेट खोलने को कहा। लेकिन उसने उनकी एक नहीं सुनी। कहा, उसे गेट खोलने का आदेश नहीं है। थक हारकर ईआरओ लौट गए। वहां के चारों बीएलओ दोपहर में खाना खाने के लिए जो निकले, तो फिर नहीं लौटे।

दरबान से मिन्नतें करते रहे बीएलओ
कारमेल जूनियर कॉलेज में 13,14,15 और 16 नंबर बूथ है। यहां के बीएलओ क्रमश: सावने सोरेन, ब्रह्मदेव तांती, वरुण चटर्जी और रीना यादव ने बताया कि वे सभी समय पर वहां पहुंच गए थे। मगर बार-बार अनुरोध के बावजूद दरबान ने गेट ही नहीं खोला। हालांकि, वे लोग वहीं जमे रहे और ईआरओ को इसकी सूचना दी वे पहुंचे। बाद में अपने काम से दरबान ने गेट खोला था। वे लोग अंदर घुस भी गए, लेकिन अंदर बैठने का इंतजाम नहीं होने के कारण वे बाहर आ गए। उन्होंने बताया कि चारों बूथों पर कुल छह लोग आए थे, जिन्हें उन्होंने फॉर्म दे दिया है।

कारमेल जूनियर कॉलेज में बिएलओ को न घुसने देना प्रशासनिक आदेशों का उल्लंघन है। इस प्रकरण की लिखित शिकायत उपायुक्त सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. अमिताभ कौशल से सोमवार को की जाएगी।
- संजय पीएम कुजूर, ईआरओ सह जिला परिवहन पदाधिकारी

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कारमेल जूनियर में नहीं बैठ सके बीएलओ