DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान में वाघा सीमा पर आत्मघाती विस्फोट में 55 की मौत

पाकिस्तान में वाघा सीमा पर आत्मघाती विस्फोट में 55 की मौत

भारत-पाकिस्तान सीमा पर ध्वजों को नीचे उतारने के लिए आयोजित समारोह के तुरंत बाद पाकिस्तान की ओर वाघा में रविवार को हुए एक आत्मघाती विस्फोट में बच्चों और सुरक्षाकर्मियों सहित कम से कम 55 लोग मारे गए और करीब 200 अन्य घायल हो गए।

अधिकारियों ने बताया कि यह एक आत्मघाती हमला था और इसमें कम से कम 55 लोग मारे गए तथा 200 से अधिक घायल हो गए।

पंजाब पुलिस के महानिरीक्षक मुश्ताक सुखेरा ने बताया कि वाघा सीमा पर रेंजर परेड समारोह देखने के बाद बड़ी संख्या में लोग बाहर निकल रहे थे कि उसी समय आत्मघाती हमलावर ने एक निकासी गेट के समीप खुद को उड़ा दिया। उन्होंने साथ ही बताया कि मारे गए लोगों में तीन रेंजर शामिल हैं।

सुरक्षा प्रबंधों के संबंध में एक सवाल के जवाब में आईजी ने बताया कि रेंजरों ने कड़े सुरक्षा उपाय किए थे लेकिन आत्मघाती हमलावर की जांच करना मुश्किल था। ध्वज नीचे उतारने  के लिए वाघा सीमा पर दशकों से रोजाना आयोजित होने वाले इस समारोह को देखने के लिए सीमा के दोनों ओर के नागरिक भारी संख्या में एकत्र होते हैं।

पूर्व में मिली रिपोर्टों में बताया गया था कि यह संभवत: सिलेंडर विस्फोट था। मुहर्रम के मददेनजर पुलिस ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए थे। आईजी ने कहा कि हमें रिपोर्टें मिली थीं कि कुछ प्रतिबंधित संगठन शियाओं, धार्मिक हस्तियों , जन रैलियों और महत्वपूर्ण इमारतों को निशाना बना सकते हैं।

मुश्ताक सुखेरा ने बताया कि आत्मघाती हमलावर गेट की ओर बढ़ा। उस समय समारोह देखने के बाद भीड़ परेड इलाके से निकल रही थी और गेट के पास एकत्र थी। उन्होंने बताया, इस विस्फोट में पांच किलोग्राम तक विस्फोटक सामग्री का इस्तेमाल किया गया था।

पुलिस अधिकारी ने इसके साथ ही बताया, वाघा सीमा पर पाकिस्तानी अर्धसैनिक बल की चौकी के समीप एक रेस्त्रां के बाहर विस्फोट हुआ। पाकिस्तानी रेंजरों ने घटनास्थल की घेराबंदी कर दी है।

वाघा सीमा पर भारतीय शहर अमृतसर तथा पाक शहर लाहौर के बीच वाघा एकमात्र सड़क संपर्क है। मुश्ताक ने बताया कि हमारी टीमों ने पुष्टि की है कि यह एक आत्मघाती विस्फोट था। आईजी ने बताया कि आत्मघाती हमलावर सीमा पर परेड ग्राउंड के गेट पर रुका और जब लोग गेट के पास एकत्र हुए तो उसने बम में विस्फोट कर दिया।

एक्सप्रेस न्यूज के अनुसार अल कायदा से जुड़े समूह जनदुल्लाह ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। एक प्रत्यक्षदर्शी इमदाद हुसैन ने संवाददाताओं को बताया कि वह परेड समारोह देखने के बाद लौट रहा था कि वाघा बार्डर बाजार के समीप धमाका सुनायी दिया।

उसने बताया कि मैं बेहोश हो गया। जब मुझे होश आया तो वहां पूरी तरह अंधेरा था। कई घायल और मैं सड़क पर पड़े मदद के लिए चिल्ला रहे थे । 15 मिनट बाद कुछ बचावकर्मी मेरी ओर बढ़े तथा मुक्षे घुरकी अस्पताल ले गए जो सीमाई इलाके में एक हेल्थ केंद्र है।

इमदाद ने कहा कि समीना बीबी अपने पति और दो छोटे बच्चों के साथ लौट रही थी कि उसी समय विस्फोट हुआ। घुरकी अस्पताल के बिस्तर पर वह रो रही थी और डॉक्टरों से अपने पति तथा बच्चों के बारे में पूछ रही थी। इमदाद ने बताया कि डाक्टर उसे यह कहकर सांत्वना दे रहे थे कि वे ठीक हैं ।

पंजाब आपात बचाव सेवा 1122 के प्रवक्ता जाम सज्जाद ने पीटीआई को बताया कि अभी तक 55 लोग मारे गए हैं और मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। उन्होंने बताया कि हमने करीब 200 घायलों को लाहौर के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया है।  उन्होंने घुरकी अस्पताल के एक वरिष्ठ डाक्टर के हवाले से कहा कि एक दर्जन से अधिक घायलों की हालत गंभीर है।

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने लाहौर विस्फोट की निंदा की है और प्रशासन को घायलों को बेहतर से बेहतर इलाज मुहैया कराने का आदेश दिया है ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक में वाघा सीमा पर आत्मघाती विस्फोट, 55 मरे