DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विभाग आवंटन के मामले में फडणवीस ने चली मोदी की चाल

विभाग आवंटन के मामले में फडणवीस ने चली मोदी की चाल

महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे पर नजर डालने से पता चलता है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस अधिकतम शासन एवं न्यूनतम सरकार प्रदान करने के अपने वादे के प्रति गंभीर हैं।

विभिन्न मंत्रियों को जो विभाग आवंटित किए गए हैं वे एक दूसरे से संबंधित हैं, ताकि कामकाज में परस्पर तालमेल बना रहे। उदाहरण स्वरूप स्कूल एवं उच्च शिक्षा, मेडिकल शिक्षा, खेलकूद एवं युवा कल्याण विभाग एक ही मंत्री विनोद तावड़े को दिए गए हैं। पहले इन विभागों के अलग अलग मंत्री थे।

तावड़े ने कहा कि उन्हें मानव संसाधन विकास विभाग का प्रभार दिया गया है। पहले राज्य में ऐसे विभाग की अवधारणा नहीं थी।

इसी तरह जनजातीय विकास और सामाजिक विकास विभागों का कामकाज अब दो मंत्रियों के बजाय एक के मंत्री संभालेंगे।

एक नौकरशाह ने बताया कि यह व्यवस्था मंत्रिमंडल के अगले विस्तार तक के लिए है लेकिन नयी पहल तालमेल वाला है तथा इससे ज्यादा प्रभावोत्पादक तरीके से ऊर्जा एवं संसाधन पर बल दिया जाएगा।

राजस्व एवं कृषि विभाग वरिष्ठ नेता एकनाथ खडसे को प्रदान किया गया है। खडसे पशुपालन, डेयरी विकास और मात्स्यिकी का भी कामकाज देखेंगे। ये सभी विभाग आपस में जुड़े हैं। सबसे महत्वपूर्ण बदलाव यह है कि फडणवीस ने गृह विभाग अपने पास रखा है। मंत्रियों की संख्या 10 रखकर उन्होंने भाजपा के पूर्व सहयोगी शिवसेना के लिए यह आस छोड़ दी है कि नयी व्यवस्था मं पूर्व सहयोगी के साथ मिलकर काम करने की गुंजाइश होगी।

इसी बीच शपथ ग्रहण समारोह के खचीर्ले होने की आलोचना के बाद फडणवीस ने मितव्यता अपनाते हुए सरकारी विमान के बजाय इकोनामी क्लास से नागपुर का सफर किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विभाग आवंटन में फडणवीस ने चली मोदी की चाल