DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रहाणे, धवन के शतक, भारत की बड़ी जीत

रहाणे, धवन के शतक, भारत की बड़ी जीत

सलामी बल्लेबाजों अंजिक्य रहाणे और शिखर धवन के प्रवाहमय शतकों की मदद से शुरू से आखिर तक दबदबा बनाये रखने वाले भारत ने रविवार को वनडे मैच में श्रीलंका पर 169 रनों की बड़ी जीत दर्ज करके पांच मैचों की सीरीज का जोरदार आगाज किया।

रहाणे ने 108 गेंदों पर 13 चौकों और दो छक्कों की मदद से 111 रन बनाए। धवन ने 107 गेंदों पर 14 चौकों और तीन छक्कों की मदद से 113 रन ठोके। इन दोनों ने शुरू में मिले जीवनदान का फायदा उठाकर पहले विकेट के लिये 231 रन की बड़ी साझेदारी की। सुरेश रैना ने 34 गेंदों पर 52 रन की तूफानी पारी खेली जिससे पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने वाले भारत ने पांच विकेट पर 363 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया।

श्रीलंका ने बड़े लक्ष्य के सामने नियमित अंतराल में विकेट गंवाए और उसकी पूरी टीम 39.2 ओवर में 194 रनों पर ढेर हो गई। इस साल जनवरी के बाद अपना पहला वनडे खेल रहे रहे तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करते हुए 34 रन देकर चार विकेट लिए। तेज गेंदबाज उमेश यादव और बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल ने दो-दो विकेट हासिल किए। श्रीलंका के सात बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे जिनमें माहेला जयवर्धने ने सर्वाधिक 43 रन बनाये।

भारत की यह रनों के लिहाज से श्रीलंका के खिलाफ दूसरी बड़ी और घरेलू सरजमीं पर सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले भारत ने विश्व कप 2003 में जोहानिसबर्ग में श्रीलंका को 183 रन से हराया था। भारत ने यह जीत नियमित कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की अनुपस्थिति में दर्ज की जिन्हें पहले तीन मैचों के लिये विश्राम दिया गया है। विराट कोहली टीम की अगुवाई कर रहे हैं।

वेस्टइंडीज के भारत दौरे के बीच से हटने के बाद श्रीलंका की हल्की तैयारियों के बारे में काफी कुछ लिखा चुका है और आज जिस तरह से उसने लचर क्षेत्ररक्षण किया उससे लगा कि वास्तव में उसकी टीम तैयार होकर नहीं आयी है। इसके अलावा लेसिथ मलिंगा और रंगना हेराथ की अनुपस्थिति में उसका आक्रमण भी कमजोर दिखा।
रहाणे और धवन को शुरू में अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज कुमार संगकारा ने जीवनदान दिये। उन्होंने धवन का दस और रहाणे का 38 रन के निजी योग कैच छोड़े। भारतीय सलामी जोड़ी ने पहले पांच ओवरों में केवल 14 रन बनाये जबकि पहले पावरप्ले में 43 रन बने। रहाणे ने रन गति तेज करने का बीड़ा उठाया। उन्होंने श्रीलंकाई गेंदबाजों पर आसानी से पुल किये। इसके कुछ देर बाद ही बायें हाथ के बल्लेबाज धवन ने भी अपने साथी का साथ देना शुरू कर दिया जिससे रन गति बढ़ने लगी।

रहाणे ने 32वें ओवर में लांग आन पर पुश करके वनडे में अपना दूसरा शतक पूरा किया। धवन ने सीकुगे प्रसन्ना पर मिडविकेट पर छक्का जड़कर अपना छठा और पिछले 19 मैचों में अपना पहला शतक लगाया। धवन को इस शतक से कितनी राहत मिली इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपने दोनों हाथ उठाकर जश्न मनाया और स्टेडियम में मौजूद 45 हजार दर्शकों ने तालियों के साथ उनका साथ दिया। 

जब लग रहा था कि ये दोनों बड़ी साक्षेदारी निभाने में सफल रहेंगे तब अशान प्रियांजन ने धवन के लेग स्टंप की गिल्ली उड़ाकर श्रीलंका को पहली सफलता दिलायी। उनका स्थान लेने के लिये उतरे रैना ने भी 34 गेंदों पर चार चौकों और तीन छक्कों की मदद से 52 रन बनाकर अपना योगदान दिया। रैना का यह 200वां वनडे मैच है जिसमें उन्होंने इस प्रारूप में 5000 रन भी पूरे किये।

रणदीव ने भले ही अपने दस ओवर में 78 रन लुटाये लेकिन वह तीन विकेट लेकर श्रीलंका के सबसे सफल गेंदबाज भी रहे। उन्होंने रहाणे और रैना के अलावा कार्यवाहक कप्तान कोहली को भी आउट किया जिन्होंने 22 रन बनाये। पटेल ने लंबे शाट खेलने के अपने कौशल से प्रभावित किया और धम्मिका प्रसाद के आखिरी ओवर में दो छक्के जड़े। वह 14 रन बनाकर नाबाद रहे।

अभ्यास मैच में भारत ए से करारी शिकस्त क्षेलनी वाली श्रीलंकाई टीम ने गेंदबाजी ही नहीं बल्लेबाजी में भी निराशाजनक प्रदर्शन किया। भारत के तेज और स्पिन मिश्रित आक्रमण के सामने उसके बल्लेबाज जूक्षते हुए नजर आये। तिलकरत्ने दिलशान (18) और उपुल थरांगा (18) टीम को जरूरत के अनुसार तेज शुरुआत नहीं दिला पाए।
 
यादव ने दिलशान को विकेटकीपर रिद्विमान साहा के हाथों कैच कराकर उनकी संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया जबकि सीरीज से पहले फिटनेस मसलों से जूझ रहे संगकारा केवल 13 रन बनाकर इशांत की गेंद पर विकेट के पीछे कैच देकर पवेलियन लौटे। उपुल थरांगा ने अपने 28 रन के लिये 53 गेंद खेली और आर अश्विन की गेंद पर कैच देकर आउट हुए।

इस बीच आरोन को चोटिल होने के कारण मैदान छोड़ना पड़ा लेकिन इससे भारतीय आक्रमण कमजोर नहीं पड़ा क्योंकि श्रीलंकाई विकेट लगातार गिर रहे थे। बाएं हाथ के स्पिनर पटेल ने सीकुगे प्रसन्ना (5) को आउट करने के बाद जयवर्धने के तेवरों पर भी विराम लगाया। जयवर्धने ने अपनी 36 गेंद की पारी में छह चौकों के अलावा अश्विन पर लांग आन पर छक्का भी लगाया।

कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (23) भी पाकिस्तान के खिलाफ दिखाई गई अपनी फार्म बरकरार नहीं रख पाए। तिसारा परेरा (29) ने टीम की तरफ से दूसरा बड़ा स्कोर बनाया। दूसरा वनडे छह नवंबर को अहमदाबाद में खेला जाएगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रहाणे, धवन के शतक, भारत की बड़ी जीत