DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुआवजे की मांग को लेकर मोर्चेबंदी, दामोदरपुरा में पंचायत

मुआवजे की मांग को लेकर भड़की आक्रोश की आग को भारतीय जनता पार्टी ठंडा नहीं होने देगी। प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार के खिलाफ मोर्चेबंदी करते हुए भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने मामले को जमकर तूल दिया। पीड़ित किसानों के गांव में जाकर पंचायत की। वहीं संघर्ष और विधि समिति बनाकर आंदोलन को धार दे दी। पुलिस प्रशासन भी पीछे हटने के मूड में नहीं है। रातभर दबिशों के दौर के बाद एसएसपी ने खुद मोर्चा संभालते हुए कहा कि उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस पर हमला और लूटपाट करने वालों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। आंदोलनकारियों से पीड़ित किसानों को अलग करने के लिए मुआवजा बांटने में तेजी कर दी गई।

गोकुल बैराज पर शनिवार को बवाल के बाद पुलिस ने उपद्रवियों पर शिकंजा कस दिया। दबिशों के दौरान गांव दामोदरपुरा में रातभर पुलिस के बूटों की आवाज गूंजती रही। पुलिस को घरों में एक भी आदमी नहीं मिला। एसएसपी देर रात तक अधिकारियों के साथ बैठक  करती रहीं। उन्होंने साफ कहा कि किसी भी सूरत में उपद्रव करने वाले छोड़े नहीं जाएं। रात्रि में ही पुलिस ने तीन तहरीरों पर 82 लोगों को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया। इस मामले में दस लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

एसएसपी मंजिल सैनी ने गोकुल बैराज और प्रभावित गांवों का दौरा करने के दौरान तैनात पुलिस अधिकारियों को इस मामले में एक और मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। साथ ही उपद्रवियों के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई किए जाने की बात भी कही।

भाजपा भड़की
भाजयुमो नेताओं पर पुलिस का शिंकजा कसते ही भाजपा भड़क उठी। गोकुल बैराज पर उपद्रव के मामले में कार्यकर्ताओं और किसानों के खिलाफ कई मुकदमे दर्ज होने पर भाजपा के तेवर तल्ख नजर आए। प्रदेश हाईकमान की ओर से आए भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विजय पाल तोमर, प्रदेश प्रवक्ता डा. चन्द्रमोहन और ब्रज प्रांत के अध्यक्ष पुरुषोत्तम खंडेलवाल ने यहां भाजपा की आपातकालीन कोर कमेटी की बैठक में पूरे कांड की जानकारी ली। इस दौरान पार्टी ने संघर्ष और विधि समिति गठित करने का निर्णय लिया है। विधि समिति कानूनी पहलुओं को देखते हुए पहले पुलिस में दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए एफआईआर देगी। दर्ज नहीं होने पर पांच नवम्बर को अदालत की शरण लेगी। पार्टी इस कांड को लेकर सोमवार को आगरा में शीघ्र नेताओं के साथ आगामी रणनीति तय करेगी। प्रादेशिक नेताओं ने जेल में बंद भाजयुमो प्रदेश महामंत्री कुंवर सिंह निषाद समेत नेताओं से मुलाकात की। इस दौरान जेल के गेट पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। भाजपा नेताओं ने दामोदरपुरा गांव में किसानों के बीच जाकरपंचायत की। किसानों से मुलाकात कर एकजुट रहने के लिए कहा। भरोसा दिलाया कि भाजपा उनके साथ खड़ी है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता चन्द्रमोहन ने कहा है कि पूरे कांड की रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष डा. लक्ष्मीकांत वाजपेयी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के लिए भेजी जाएगी।

मुआवजे के लिए प्रशासन की कवायद
सोलह साल से अटके पड़े मुआवजे के लिए शनिवार को हुए जबर्दस्त उपद्रव की गूंज लखनऊ और दिल्ली तक सुनाई दी। लाठीचाजर्, पथराव, फायरिंग और आगजनी के साथ हुए उपद्रव देख चुके प्रशासन ने मुआवजे को जल्द से जल्द किसानों को देने की तैयारी तेज कर दी। शासन से हरी झंडी मिलते ही डीएम राजेश कुमार ने किसानों को करार नियमावली के जरिये एक सप्ताह में मुआवजा देने की तैयारी शुरू कर दी है। किसानों के पास सहमति पत्र भेजे हैं। दिन भर जिला प्रशासन ग्यारह गांवों का मुआवजा तैयार कर लिया। इससे किसानों को मुआवजा राशि बढ़कर मिलने की उम्मीद है।
 
वजर्न---
किसानों को मुआवजा शीघ्र देने की तैयारी की जा रही है। जिन उपद्रवियों ने सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है, उनके खिलाफ कानून अपना काम कर रहा है। किसी भी कीमत पर जिले की फिजा बिगाड़ने वालों को बख्शा नहींजाएगा।
राजेशकुमार, जिलाधिकारी, मथुरा  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुआवजे की मांग को लेकर मोर्चेबंदी, दामोदरपुरा में पंचायत