DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्र के खिलाफ शिवराज का ‘न्याय युच’

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केन्द्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार से दस सवाल पूछने के साथ प्रदेश की जनता की खातिर न्याय यु करने का एलान किया है। 24 घंटे के उपवास का समापन करते हुए चौहान ने कहा कि यह अन्याय के खिलाफ लड़ी जाने वाली लड़ाई की शुरुआत है। मुख्यमंत्री के साथ प्रदेश की पूरी सरकार ने केन्द्र पर मध्य प्रदेश के साथ भेदभाव बरतने का आरोप लगाते हुए बुधवार को 24 घंटे का उपवास शुरू किया था। भोपाल के रोशनपुरा चौराहे पर शिवराज सिंह चौहान ने उपवास रखा। उपवास समाप्त करते हुए उन्होंने केन्द्र सरकार से दस सवाल पूछे। केंद्र सरकार से उन्होंने जानना चाहा कि मध्य प्रदेश को आवंटित की जाने वाली बिजली में कटौती क्यों की गई है, कोयले का कोटा क्यों घटाया गया है, घटिया कोयला क्यों दिया जा रहा है, बिरसिंहपुर तथा चचाई विद्युत इकाइयां पूरी क्यों नही हो रही है, विद्युत इकाइयों में तकनीकी खराबी क्यों आ रही है, गरीबों को आवंटित खाद्यान्न कम क्यों दिया जा रहा है, लाल गेंहू की आपूर्ति क्यों हो रही है, गरीबी रेखा से ऊपर रहने वालों का गेहूं कोटा क्यों नहीं बढ़ाया जा रहा है, मध्य प्रदेश के किसानों को गेहूं का सही दाम क्यों नहीं दिया गया और इंदिरा आवास कुटीर के मामले में प्रदेश की उपेक्षा क्यों की जा रही है। शिवराज सिंह चौहान ने महात्मा गांधी को याद करते हुए कहा कि वह कहते थे कि अन्याय करने से बड़ा गुनाह उसे सहना है। अब तो बात उससे आगे निकल गई है। यहां सिर्फ उनके साथ नहीं पूरे प्रदेश की जनता के साथ अन्याय हो रहा है जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वह जनता के लिए सड़क पर उतर चुके हैं। केन्द्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने चेतावनी दी की अब उनका आन्दोलन थमने वाला नहीं है। उनकी बात न सुनी गई तो वह आन्दोलन की राह से पीछे नहीं हटेंगे। प्रधानमंत्री को पत्र लिखा जाएगा और पूरे प्रदेश में हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा। मध्य प्रदेश के सांसद दिल्ली की सड़कों पर उतर कर राष्ट्रपति तक अपनी बात पहुंचाएंगे, न्याय यात्रा निकाली जाएगी और न्याय यु तक करने में वह पीछे नहीं रहेंगे। शिवराज सिंह चौहान ने 24 घंटे का उपवास रखा और उसी पंडाल के नीचे सरकारी फाइलें भी निबटाई। उपवास जब खत्म हुआ तब पार्टी के वरिष्ठ नेता सुन्दरलाल पटवा, सांसद प्रभात झा, पार्टी महासचिव थवर चन्द गहलोत सहित कई नेता व बड़ी तादाद में कार्यकर्ता मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: केंद्र के खिलाफ शिवराज का ‘न्याय युच’