DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीटीसी बस की टक्कर से हुई मौत पर एक लाख का मुआवजा

डीटीसी बस की टक्कर से हुई मौत पर एक लाख का मुआवजा

यहां के मोटर दुर्घटना दावा ट्रिब्यूनल (एमएसीटी) ने लापरवाही से चलाई जा रही डीटीसी बस से टक्कर खाकर घायल हुए व्यक्ति को एक लाख साठ हजार रुपए का मुआवजा देने का आदेश दिया है।
   
ट्रिब्यूनल ने बस का बीमा करने वाली युनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को वर्ष 2013 में गंभीर रूप से घायल हुए राजस्थान निवासी सुनील चौधरी को 1,60,900 रुपए का मुआवजा देने का आदेश दिया।
    
ट्रिब्यूनल के पीठासीन अधिकारी के.एस. मोही ने प्राथमिक रिपोर्ट, पीड़ित की चिकित्सकीय रिपोर्ट और अन्य दस्तावेजों के आधार पर कहा, सुनील के साक्ष्य और रिकॉर्ड में दर्ज दस्तावेजों के आधार पर यह स्पष्ट है कि लापरवाही से डीटीसी बस चलाने के कारण ही पीड़ित सड़क दुर्घटना का शिकार हुआ।
    
उल्लेखनीय है कि बीमा कंपनी द्वारा ऐसा कोई साक्ष्य प्रस्तुत नहीं किया गया जिससे यह पता चले कि दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की बस द्वारा किसी नीति का उल्लंघन हुआ या बस के चालक के पास वैध ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था।
    
याचिका के मुताबिक, सुनील दक्षिणी दिल्ली के टाटा मोटर्स वर्कशॉप में कार्यरत था और 8-9 सितंबर 2013 की मध्यरात्रि में जब वह अपने कार्यालय के बाहर खड़ा था तभी लापरवाही से चलाई जा रही डीटीसी बस अचानक मुड़ी और उसे टक्कर मार दी जिसके कारण वह सड़क पर गिर पड़ा तथा उसे गंभीर चोटें आईं।
    
सुनील को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां सिर में लगी गंभीर चोट के कारण करीब एक सप्ताह तक उसका उपचार चला।
    
हालांकि डीटीसी और बस चालक ने याचिका को खारिज करने का अनुरोध करते हुए दावा किया कि सुनील की गलती के कारण ही हादसा हुआ। बीमा कंपनी ने मामले को अदालत के बाहर निपटाने के लिए पीड़ित को धन का प्रस्ताव दिया था जिसे उसने खारिज कर दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डीटीसी बस की टक्कर से हुई मौत पर एक लाख का मुआवजा