DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साक्षरता से लग सकता है भ्रष्टाचार पर अंकुश: डॉ. मिश्रा

देवघर, कार्यालय संवाददाता। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, क्षेत्रीय केन्द्र द्वारा सतकता जागरूकता सप्ताह का आयोजन 27 अक्टूबर से 01 नवंबर तक किया गया। सतर्कता जागरूकता सप्ताह में पहले 27 अक्टूबर को सभी अधिकारी-कर्मचारियों ने शपथ लिया था। सतर्कता जागरूकता सप्ताह का समापन शनिवार को पूर्वाह्न 11 बजे हुआ। मौके पर इग्नू के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. अनिल कुमार मिश्रा ने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को पूर्ण निष्ठा व ईमानदारी से विश्वविद्यालय को आगे बढ़ाने में योगदान देने के लिए प्रोत्साहित किया।

डॉ. मिश्रा ने बताया कि इग्नू में सामान्य विवरणिका को छोड़कर बांकी सभी शुल्क बैंक ड्राफ्ट के माध्यम से ही लिए जाते हैं। शुल्क बैंक ड्राफ्ट से लेने की मुख्य वजह किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार को नहीं पनपने देना है। यह भी बताया कि यदि समाज का हर व्यक्ति साक्षर हो तो भ्रष्टाचार से काफी हद तक निजात मिल सकता है। डॉ. मिश्रा ने यह भी बताया कि इस समय इग्नू के सभी 226 कार्यक्रमों जिसमें स्नातकोत्तर, स्नातक, स्नातकोत्तर डिप्लोमा, डिप्लोमा व प्रमाण-पत्र कार्यक्रम शामिल हैं के जनवरी 2015 सत्र की प्रवेश की प्रक्रिया चल रही है।

मौके पर उपस्थित सभी अधिकारी-कर्मचारियों से अनुरोध किया कि वह अपने पास-पड़ोस में रहने वाले लोगों को इग्नू के विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने के लिए प्रेरित करें। डॉ. मिश्रा ने उपस्थित सभी अधिकारी व कर्मियों से अनुरोध किया कि वह इग्नू में अपनी सेवा के दौरान कम से कम पचास महिलाओं व पुरूषों को इग्नू द्वारा संचालित उच्च शिक्षा से अवश्य जोड़ें। उन्होंने जनवरी 2015 सत्र में प्रवेश लेने के लिए बिना विलंब शुल्क के अंतिम तिथि 1 दिसंबर निर्धारण है वहीं 3 सौ रुपया विलंब शुल्क के साथ अंतिम तिथि 15 दिसंबर तय की गई है।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:साक्षरता से लग सकता है भ्रष्टाचार पर अंकुश: डॉ. मिश्रा