DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालबहादुर शास्त्री हवाई अड्डे का हुआ सौदर्यकरण

बाबतपुर स्थित लालबहादुर शास्त्री हवाई अड्डे को 2012 में अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की पहचान मिली थी। मगर अब यह हवाई देश के उन अतिविशिष्ट हवाई अड्डों में शुमार हो जाएगा जहां पर मॉन्युमेंटल फ्लैग लगे हैं। यह झंडा अतिविशिष्ट हवाई अड्डों पर लगाया जाता है। मॉन्युमेंटल फ्लैग के लिए देश में पांच हवाई अड्डों को चिह्नित किया गया है। जिनमें वाराणसी के लालबहादुर शास्त्री एयरपोर्ट के अलावा अहमदाबाद, विशाखापट्टनम, चेन्नई और श्रीनगर शामिल हैं।

लालबहादुर शास्त्री हवाई अड्डे के पोर्टिको के बाहर एनटीपीसी और बनारस की एक निजी संस्था की ओर से सुंदरीकरण का काम कराया जा रहा है। एनटीपीसी काशी के सभी घाटों का चित्रण एक विशेष प्रकार के पत्थर पर करा रहा है जिससे हवाई अड्डे पर आने वाले पर्यटकों को बनारस की संस्कृति की पहचान हो सकेगी। साथ ही उसके बगल में निजी संस्थान पौधरोपण के साथ ही घास की मदद से एक विशेष प्रकार की डिजाइन बना रहा है। इन्हीं घासों के बीच में 30 मीटर लम्बा एक खंभा लगा है। इसी खंभे पर मॉन्युमेंटल फ्लैग को लगाया जाएगा। खंभे के ऊपर एलईडी लाइट जलेगी।

मॉन्युमेंटल फ्लैग हवाई अड्डे को एक अलग पहचान देगा। इस झंडे को रनवे पर खड़े विमान के यात्राी भी देख सकेंगे। उन्होंने बताया कि दिल्ली मुख्यालय से झंडा आ गया है। इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बनारस आने के कार्यक्रम से पहले लगा दिया जाएगा।  
एसके मलिक, एयरपोर्ट नि

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लालबहादुर शास्त्री हवाई अड्डे का हुआ सौदर्यकरण