DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा और आजसू गठबंधन के करीब

भाजपा और आजसू गठबंधन के करीब पहुंच गए हैं। किसी भी वक्त गठबंधन का एलान हो सकता है। आजसू को भाजपा नौ सीटें दे सकती है। हालांकि आजसू ने 15 सीट मांगी है। इधर भाजपा सांसद रामटहल चौधरी ने भाजपा नेतृत्व को पत्र लिख कर गठबंधन का विरोध किया है। यशवंत सिन्हा सहित दिल्ली में जमे प्रदेश भाजपा के कई नेताओं ने भी नेतृत्व से कहा है कि भाजपा को गठबंधन नहीं करना चाहिए। गठबंधन को अंजाम देने के लिए आजसू प्रमुख सुदेश महतो शनिवार को दिल्ली पहुंच गए हैं।

आजसू ने उम्मीदवारों की घोषणा रोकी
गठबंधन को देखते हुए आजसू ने अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा रोक दी है। सुदेश महतो ने दो दिन पहले ऐलान किया था कि शनिवार को 13 सीटों के उम्मीदवारों की घोषणा कर दी जाएगी। दिल्ली जाने के पहले उन्होंने पार्टी नेताओं और विधायकों के साथ बैठक की। आजसू ने रविवार को संसदीय दल की बैठक बुलाई है।

मुंबई में नथवाणी से मिले सुदेश
गठबंधन के लिए राज्यसभा सांसद परिमल नथवाणी अहम भूमिका निभा रहे हैं। गुरुवार की रात मुंबई में सुदेश महतो ने परिमल नथवाणी से मुलाकात की थी। शनिवार को आधिकारिक प्रस्ताव लेकर वह दिल्ली पहुंचे और भाजपा नेताओं से मुलाकात की। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से उनकी बातचीत भी हुई है।
- आजसू के साथ गठबंधन का सवाल हीं नहीं उठता। अगर यह होता है, तो मेरे साथ भाजपा कार्यकर्ता सड़क पर उतर कर विरोध करेंगे। विधानसभा चुनाव भाजपा को अपने दम पर लड़ना चाहिए। - रामटहल चौधरी, भाजपा सांसद
- भाजपा के बुलावे पर सुदेश महतो गठबंधन पर बात करने दिल्ली गए हैं। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से बात होगी। - डॉ देवशरण भगत, आजसू प्रवक्ता

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा और आजसू गठबंधन के करीब