DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'दिल्ली को फिर केंद्र शासित बनाने की फिराक में भाजपा'

'दिल्ली को फिर केंद्र शासित बनाने की फिराक में भाजपा'

आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक और दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया है कि यदि वह दिल्ली में सरकार बनाने में नाकाम रहती है, तो वह संविधान संशोधन करके राष्ट्रीय राजधानी को फिर से केन्द्र शासित प्रदेश बना देगी।

पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर कहा है कि सरकार के एक बहुत वरिष्ठ अधिकारी ने मुझे बताया है और एक वरिष्ठ संपादक ने इस बात की पुष्टि की है कि भाजपा दिल्ली में सरकार बनाने का एक आखिरी प्रयास करेगी और यदि वह इसमें सफल नहीं हुई, तो वह विधानसभा को भंग कर और संविधान संशोधन का दिल्ली विधानसभा को खत्म कर राष्ट्रीय राजधानी को फिर से केन्द्र शासित प्रदेश बना देगी।

दिल्ली विधानसभा को भंग कर चुनाव कराने के लिए उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटा चुके केजरीवाल को गुरुवार को उस समय बड़ा झटका लगा था, जब शीर्ष न्यायालय ने उपराज्यपाल नजीब जंग के दिल्ली में सभी राजनीतिक दलों से विचार विमर्श कर सरकार बनाने की संभावनाओं को टटोलने के प्रयास को सकारात्मक बताया था। उच्चतम न्यायालय ने यह भी कहा था कि अल्पमत सरकार का गठन भी संभव है। इस मामले पर अब 11 नवंबर को सुनवाई होनी है।

केजरीवाल के इस्तीफा देने के बाद दिल्ली विधानसभा 17 फरवरी से निलंबित है। वर्तमान में कोई भी दल सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है। सत्तर सदस्यीय विधानसभा में तीन सीटें खाली हैं, जिन पर 25 नवंबर को चुनाव होना है। शेष 67 विधायकों में 29 भाजपा-अकाली गठबंधन, 27 आप, आठ कांग्रेस, एक जनता दल (यू) एक निर्दलीय और एक आप से निष्कासित है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'दिल्ली को फिर केंद्र शासित बनाने की फिराक में भाजपा'