DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माओवादी ईमानदारी से शांति प्रक्रिया लागू करं:यूएस

नेपाल में नई गठबंधन सरकार का नेतृत्व करने जा रही माओवादी पार्टी से अमेरिका ने कहा है कि उसे शांति प्रक्रिया के प्रति प्रतिबद्धता ‘क्रियाकलापों में’ दिखानी चाहिए। अमेरिकी राजदूत ने शुक्रवार को माओवादी प्रमुख प्रचंड से पहली आधिकारिक मुलाकात में ये बातें कही। वाशिंगटन ने इस संगठन को आतंकियों की सूची में डाल रखा है। अमेरिकी राजदूत नैन्सी जे. पॉवेल ने प्रचंड से उनके नयाबाजार स्थित आवास पर मुलाकात की और 10 अप्रैल को हुए संविधान सभा चुनाव के बाद सबसे बड़े दल के रूप में उभरी इस पार्टी से नई सरकार के गठन और द्विपक्षीय संबंधों के बार में चर्चा की। अमेरिकी दूतावास द्वारा शुक्रवार को जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार, पॉवेल ने प्रंचड से यह सुनिश्चित करने को कहा कि, ‘माओवादियों के सार संगठन राजनीतिक प्रक्रिया के प्रति अपने मन, कर्म और वचन से प्रतिबद्धता जताएं।’ पॉवेल इस मुलाकात के बाद शनिवार को अमेरिका रवाना हो रही हैं, जहां वह बुश प्रशासन को नेपाल के ताजा राजनीतिक हालातों से अवगत कराएंगी। पॉवेल चाहती हैं कि ‘नेपाल की नई सरकार इस बात का आश्वासन दे कि वह वर्तमान सहायता समझौतें के प्रति सम्मान व्यक्त करेगी और उसे इन समझौतों को क्रियान्वित करनेवालों की सुरक्षा का भी वचन देना चाहिए।’ पॉवेल ने माओवादी प्रमुख से उनकी पार्टी की आगामी योजनाओं के बार में भी चर्चा की। माओवादी पार्टी ने संविधान सभा के 601 सीटों में से 220 पर जीत हासिल की है। इस समय वह सरकार बनाने के लिए समर्थकों की खोज में है। अमेरिकी सरकार ने माओवादियों पर आरोप लगाया है कि वह 2006 में शांति समझौते पर दस्तखत करने और राजनीति की मुख्यधारा में शामिल हो जाने के बाद भी अस्थिरता पैदा कर रही है और भय व आतंक की रणनीति पूर देश में अपना रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: माओवादी शांति प्रक्रिया लागू करं:यूएस