DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मधुशाला के मुसाफिरों की बढ़ गयी तादाद

राज्य में शराब पीनेवाले महिला और पुरुष की संख्या में इजाफा हुआ है। रिनपास द्वारा कराये गये सव्रे के बाद यह तथ्य सामने आया है। रिनपास ने 22 हजार से अधिक लोगों पर सव्रे किया है। झारखंड के 12 गांवों में हुए सव्रे में कुल 3234 घरों के 22 हजार 738 लोग शामिल किये गये। इनमें 70 प्रतिशत से अधिक घरों में एक से अधिक व्यक्ित शराब का सेवन करता हुआ पाया गया। सव्रेक्षण सड़क के किनार फल बेचनेवाले और गांवों में हड़िया बेचनेवालों पर भी किया गया। रिनपास के मनोचिकित्सक अमोल रंजन ने बताया कि सब्जी और फल बेचनेवाली 203 महिलाओं में से कबीर 70 ने शराब सेवन की बात स्वीकारी। तंबाकू का सेवन करनेवालों की संख्या तो और भी अधिक है। नशा सेवन का मूल कारण थकान बताया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में शराब के सेवन में धड़ल्ले से वृद्धि हुई है। कम उम्र के लोगों में शराब का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। प्रो रंजन ने बताया कि देश के अंदर अल्कोहल का सेवन करनेवालों की संख्या 62.5 मिलियन है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मधुशाला के मुसाफिरों की बढ़ गयी तादाद