DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिरकार जीत ही गए रॉयल चैलेंजर्स

आखिरी आेवर में डेक्कन चार्जर्स के सामने जीत के लिए 20 रन थे। गेंद लेग स्पिनर अनिल कुंबले के हाथों में थी। कुंबले ने पहली दो गेंदों पर एक एक रन दिए लेकिन आलराउंडर संजय बांगड़ ने अगली दो गेंदों पर छक्के ठोक दिए। अब बची दो गेंदें और जीत के लिए छह रन लेकिन कुंबले ने अपना धैर्य बनाए रखते हुए दो गेंदों पर दो रन दिए और बेंगलूर रायल चैलेंजर्स ने तीन रन से आज यह रोमांचक मैच जीत लिया। चैलेंजर्स की छह मैचों में यह दूसरी जीत है जबकि चार्जर्स ने छह मैचों में अपनी यह पांचवीं शिकस्त झेली है। चैलेंजर्स ने आठ विकेट पर 156 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खडा किया था जिसके जवाब में चार्जर्स कप्तान वी वी एस लक्ष्मण 52 और युवा बल्लेबाज रोहित शर्मा 57 के अर्धशतकों के बावजूद छह विकेट पर 153 रन ही बना सके। चैलेंजर्स के कप्तान राहुल द्रविड ने दिल्ली के खिलाफ पिछले मैच में अपनी टीम की हार के बाद कहा था कि उनकी टीम जीत हासिल करने के लिए एक दो अच्छे आेवरों से दूर रह जाती है और आज उनकी टीम को वे एक दो अच्छे आेवर ऐसे समय मिल गए जब उनकी टीम निश्चित हार की तरफ बढ़ रही थी। चार्जर्स के 17 आेवर की समाप्ति तक तीन विकेट पर 128 रन थे और उसे जीतने के लिए 18 गेंदों में 2रन बनाने थे। लेकिन प्रवीण कुमार ने 18 वें आेवर में विस्फोटक शाहिद आफरीदी और फिर लक्ष्मण के विकेट लेकर मैच का रुख बदल दिया। 1वें आेवर में जहीर खान ने स्काट स्टाइरिस को आउट किया और इस आेवर में सिर्फ पांच रन दिए। आखिरी आेवर में बांगड ने बेशक दो छक्के मारे लेकिन इस आेवर में बीस रन का लक्ष्य पार नहीं कर पाए। चैलेंजर्स ने जैसे ही यह मैच जीता कप्तान द्रविड ने जीत की खुशी में अपनी मुठ्ठिया हवा में लहरा दी। आखिर उनकी टीम ने कई पराजयों के बाद जीत का स्वाद चख ही लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आखिरकार जीत ही गए रॉयल चैलेंजर्स