अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरमिंदर को देख घायल हुए थे खली

गेट्र खली एक ऐसा नाम, जो जब रिंग में उतरता है तो सामने वाले के पसीने छूटने लगते हैं। सात फुट तीन इंच लंबे भीमकाय शरीर को देखकर यह अनुमान लगाना थोड़ा मुश्किल है कि बाहर से इतना कड़क लगने वाला खली अंदर से उतना ही मुलायम है। करीब दो क्िवंटल वजन वाले खली के सीने में एक प्यार भरा दिल धड़कता है। आज का यह हीमैन कभी इश्क के दरिया में भी आकंठ डूब चुका है। उन्हें मोहब्बत के मैदान में घुटने टेकने पर मजबूर करने वाली कोई और नहीं बल्कि उनकी पत्नी हरमिंदर कौर हैं। खली का असली नाम दलीप सिंह है। वे हिंदू हैं और हरमिंदर सिख परिवार से आती हैं। दोनों ने फरवरी, 2002 में हिंदू रीति-रिवाजों के मुताबिक सात फेरे लिए। कौर देखने में अपने पति जसी लंबी-चौड़ी भले न हों, पर खली को उन्होंने ऐसा मोहा कि वह उन्हीं के हो कर रह गए। खली को बच्चे काफी पसंद हैं। उनके बड़े संयुक्त परिवार में कई बच्चे होने के कारण उन्हें अपना बच्चा न होने की कमी नहीं खलती। सामाजिक और पारिवारिक जीवन में खली को काफी उदार हृदय माना जाता है। उनका बचपन गरीबी में गुजरा। इसलिए गुरबत की तकलीफों को वह अच्छी तरह समझते हैं। अपने गांव धीराना के संगी-साथियों की हर संभव मदद करते हैं। अंतरराष्ट्रीय कुश्ती की दुनिया में उभरने के बाद खली ने अपने गांव में स्कूल, अस्पताल और अन्य सार्वजनिक निर्माण करवाए। अपनी उदारता के कारण आज वह गांव की आंख के तार बन गए हैं। खली के भारत पहुंचने की खबरों के बाद से ही उनसे मिलने के लिए पूरा गांव बेकरार है। खली के दोस्त उनके गांव में ही नहीं बल्कि कुश्ती की दुनिया में भी हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हरमिंदर को देख घायल हुए थे खली