अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीरू के तूफान को रोक पाएगा मुम्बई?

पांच मैच में चार अर्धशतक। विस्फोटक बल्लेबाज विरन्दर सहवाग के लिए जसे 20-20 फॉरमेट सबसे पसंदीदा फॉरमेट है। शुक्रवार को माही की चेन्नई टीम के खिलाफ उन्होंने एक और विस्फोटक पारी खेल इस बात को फिर से सिद्ध कर दिया। अब दिल्ली का मुकाबला मुम्बई की टीम से है। डीवाई पाटिल स्टेडियम में होने वाले इस मुकाबले में उमसभरी गर्मी भी खिलाड़ियों की अच्छी-खासी परीक्षा लेगी। मुम्बई टीम को उनके कप्तान सचिन तेंदुलकर की कमी काफी खल रही है। उनके आइकॉन अभी तक पुूरी तरह से फिट नहीं हुए हैं। मास्टर ब्लास्टर का खेलना अभी भी संदेह बना हुआ है। तेंदुलकर ने कल पहली बार बल्लेबाजी की। किसी विपक्षी टीम के खिलाफ नहीं बल्कि अपनी ही टीम में बनाईं दो टीमों में से एक से। एक माह बाद उन्होंने बल्ला पकड़ा। पूर 20 ओवर तक वह मैदान में भी रहे। हां, अगर वे दिल्ली के खिलाफ खेलते भी हैं तो इसका फैसला कल मैच से पहले ही लिया जाएगा। उनकी अनुपस्थिति में टीम अभी तक बोर्ड पर बड़ा स्कोर खड़ा करने में सफल नहीं हो सकी है। यही कारण है कि वह विपक्षी टीमों पर कुछ दबाव भी नहीं डाल सकी है। यही कारण है कि मुकेश अंबानी की सबसे महंगी टीम इस समय सातवें स्थान पर है। टीम की बैटिंग लगभग पूरी तरह से फेल रही है। रोबिन उथप्पा अब तक सबसे ज्यादा 155 रन ही बना सके हैं लेकिन उनके खाते में भी अभी एक भी अर्धशतक नहीं आया है। विदेशी स्टार सनत जयसूर्या भी अभी तक लय में नहीं आ पाए हैं। हां, शॉन पोलॉक ने जरूर किश्तों में अच्छा प्रदर्शन किया है। हरभजन सिंह पर पहले ही प्रतिबंध लग गया है। इसके बाद फिरकी का जिम्मा जयसूर्या पर आ गया है। टीम में अभिषेक नायर ने जरूर अच्छा प्रदर्शन किया है। दिल्ली के खिलाफ जीत दर्ज करनी है तो टीम के एकाुट होकर बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा। दिल्ली का टॉप आॉर्डर पूरे फॉर्म में हैं। ओपनर सहवाग और गौतम गंभीर के साथ-साथ शिखर धवन भी बल्ले से शानदार प्रदर्शन करते आ रहे हैं। मिडिल ऑर्डर भी दिल्ली का काफी मजबूत है। इसमें ऑलराउंडर रात भाटिया और मिथुन मनहास घरलू क्रिकेट के हीरो हैं। इसमें एबी डिविलियर्स और शोएब मलिक के जुड़ने से और मजबूती आई है। ग्लेन मैकग्रा और मोहम्मद आसिफ के होने से दिल्ली का पेस अटैक भी काफी मजबूत है। इसमें फरवीज महारूफ, प्रदीप सांगवान और योमहेश भी शामिल हैं। हां, डेनियल विटोरी के जाने से फिरकी के डिपार्टमेंट में जरूर दिल्ली टीम कुछ कमजोर हुई है। इसकी जिम्मेदारी खुद कप्तान सहवाग को ही निभानी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वीरू के तूफान को रोक पाएगा मुम्बई?