अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसटीएफ के गठन पर लग सकता है ग्रहण

झारखंड में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के गठन पर ग्रहण लग सकता है। केंद्र के निर्देश पर नक्सलियों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई और संगठित अपराध पर अंकुश के लिए इस फोर्स का गठन किया जाना है। इसके लिए मापदंडों का निर्धारण भी केंद्र ने ही किया है। इसमें किस उम्र के डीएसपी, दारोगा, इंस्पेक्टर इसमें रहेंगे-यह केंद्र ने तय रखा है। निर्धारित मापदंडों पर जब एसटीएफ के गठन के लिए पुलिस अफसरों का चयन किया गया, तो बवाल मच गया। इसमें शामिल किये गये डीएसपी स्तर के कुछ अफसरों ने अपने राजनीतिक आकाओं के जरिये एसटीएफ से अपना नाम हटवाने के लिए सरकार पर जबर्दस्त दबाव बनवाया।ड्ढr दो पावरफुल डीएसपी ने तो एसटीएफ गठन की पूरी कवायद पर ही पानी फिरवा दिया। दोनों का नाम एसटीएफ के लिए था। कई आला नेता और आइएएस एसटीएफ की सूची में शामिल नामों को हटवाने के लिए पैरवी में जुट गये। एसे में इसके गठन की प्रक्रिया टलती दिख रही है। हालांकि तेज-तर्रार डीएसपी अजीत पीटर डुंगडुंग और टंडवा में पदस्थापित आलोक सहित अन्य न केवल गठन की वकालत करते हैं, बल्कि खुद जाने को इच्छुक हैं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एसटीएफ के गठन पर लग सकता है ग्रहण