DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोलियों की बौछारच थर्राया सरासनी

नक्सलियों द्वारा मांगी गयी लेवी की मांग पूरी किये बगैर काम शुरू करा दिये जाने के परिणामस्वरूप सरासनी गांव अवस्थित रलवे कैम्प में नक्सलियों द्वारा हमला बोल दिया गया। देवघर में नक्सलियों द्वारा की गयी यह पहली घटना है। शुक्रवार की रात को 1 बजे लगभग 35 की संख्या में सशस्त्र हथियारबंदों द्वारा कै म्प में धावा बोलकर स्टोर में आग लगा दिया गया। रात को झारखण्ड प्रस्तुति कमेटी (ो.पी.सी.) समर्थकों के गोलियों की तड़तड़ाहट से पूरा गांव थर्रा उठा। गोलियों की तड़तड़ाहट का अंदाजा महा इससे लगाया जा सकता है कि घटना के वक्त पूरे गांव के तीन टोला के सभी लोग जग गये थे। घटना से सरासनी के लोग भयाक्रांत है। प्राप्त जानकारी के अनुसार देर रात में देवघर-सुल्तानगंज के बीच चल रहे रलवे का काम कराने वाली कंपनी मोदी प्रोजेक्ट, रांची के सरासनी स्थित कै म्प पर लगभग 35 जे.पी.सी. समर्थक पहुंचे। कै म्प को चारों ओर से घेर लिया गया। सरासनी धर्मशाला के निकट आग की तेज लपटें आकाश की ओर उठीं व कै म्प में 5-6 हथियारों से एकसाथ फायरिंग शुरू कर दी गयी। गोलियों की तड़तड़ाहट को सुन कै म्प में मौजूद लगभग 20 ड्राईवर-खलासी जान बचाने की नीयत से कै म्प की छत पर चढ़कर छिप गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गोलियों की बौछारच थर्राया सरासनी