DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फरबी प्रेमी का सुराग नहीं, पिता को जेल

पुणे की युवती की हत्या मामले में शनिवार को पुलिस ने फरबी प्रमी के एयरफोर्सकर्मी पिता मोहन सिंह को अदालत में पेशी के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। इससे पूर्व फुलवारीशरीफ थाने में पुलिस ने मोहन से लंबी पूछताछ की लेकिन कुछ महत्वपूर्ण जानकारी नहीं मिली। पुलिस के सामने मोहन बार-बार खुद को निर्दोष और घटना के बाबत कोई जानकारी नहीं होने की बात दुहराता रहा। दिन में एयरफोर्स के भी अधिकारियों ने घटनास्थल से थाने तक जाकर छानबीन की। इस बीच पुलिस ने युवती का दाह संस्कार कर दिया है। हालांकि धोखेबाज प्रमी नितिन कुमार का अबतक कोई सुराग नहीं मिल सका है। वहीं युवती के मोबाइल और नकद के गायब होने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। उसके पास लैपटॉप भी होने की बात कही जा रही है।ड्ढr ड्ढr इधर छानबीन के दौरान यह बात सामने आयी है कि महिला बैंककर्मी का नाम विद्या था और वह पहले भी अपने प्रमी के घर फुलवारीशरीफ के करोड़ीचक गांव आ चुकी थी। नितिन और विद्या के बीच प्रगाढ़ सम्बंधों की बात पहले से ही फौजी पिता और अन्य परिजनों को थी। करीब छह माह पूर्व विद्या का नितिन के घर एक शादी समारोह में भाग लेने पूणे से करोड़ीचक गांव आना इसी सच्चाई पर मुहर लगाता है। रहस्यवाली बात यह है कि आखिर किस परिस्थिति में नितिन दूसरी शादी को तैयार हो गया। ग्रामीण सृूत्रों के अनुसार 27 तारीख को नितिन की बारात राजाबाजर गयी थी। 28 को इसी की सूचना पाकर विद्या विमान से पटना पहुंची। एयरपोर्ट से ही फोन करके उसने नितिन को बुलाया और उसी के साथ करोड़ीचक आयी।ड्ढr ड्ढr सूत्रों की मानें तो आते ही पूर परिवार से विद्या की नितिन की दूसरी शादी को लेकर तकरार हुई थी। उसने अपने साथ लाये पैसों से भर बैग को मोहन सिंह के मुंह पर दे मारा था कि पैसे के लिए ही आपने मेर सुहाग को उजाड़ दिया तो लीजिए ये पैसे। ग्रामीणों के मुताबिक उसके बाद घर के अंदर क्या हुआ देख नहीं सका। इधर पुलिस ने नितिन की तलाश में सरगर्मी तेज कर दी है। वहीं उसके घरवाले घर छोड़कर फरार हैं। असलियत पता चलने के 48 घंटे बाद भी पुलिस विद्या के परिजनों से सम्पर्क स्थापित नहीं कर पायी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फरबी प्रेमी का सुराग नहीं, पिता को जेल