अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उपाध्यक्षों ने सचिव के खिलाफ खोला मोर्चा

बिहार उर्दू अकादमी के दोनों उपाध्यक्षों डा. अब्दुल वाहिद अंसारी व डा. ग्यासउद्दीन रई ने अकादमी के सचिव शहााद अनवर अंसारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। यही नहीं सचिव पर कई गंभीर आरोप लगा कर उर्दू से जुडे लोगों में सनसनी फैला दी है। लगभग डेढ़ माह से अकादमी के कोष से राशि की निकासी नहीं हो रही है जिससे कर्मियों के वेतन का भुगतान नहीं हुआ है।ड्ढr ड्ढr उपाध्यक्षों ने सचिव पर लगाए गए आरोपों से अकादमी के अध्यक्ष सह प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व अल्पसंख्यक कल्याण विभाग को भी सूचित कर दिया है। इधर सचिव ने कहा कि दोनों उपाध्यक्ष अपने पद का दुरूपयोग कर रहे हैं। उन्होंने सभी आरोपों को निराधार करार दिया । उपाध्यक्षों ने आरोप लगाया है कि अंसारी अकादमी के संविधान के विरुद्ध काम कर रहे हैं। उपाध्यक्ष की अनुमति बिना सचिव ने अनवर अहमद को उप संपादक पद पर नियुक्त कर दिया।ड्ढr अब वे उन्हें नियमित करने के लिए उनपर दबाव बना रहे हैं। सचिव के पास खुद की गाड़ी रहते हुए भी वे एक निजी ट्रेवेल्स से रसीद लेकर अकादमी के खाता से पैसा निकासी करते हैं। उपाध्यक्षों के द्वारा लगाए गए अन्य आरोपों में बिना उपाध्यक्षों से पारित किए कई उर्दू शायरों तथा लेखकों को सम्मानित किया तथा अकादमी की गोपनीयता अधिनियम का उल्लंघन करना आदि हैं।ड्ढr ड्ढr इधर सचिव अंसारी ने कहा कि अकादमी के संविधान के अनुसार ही काम कर रहा हूं। जब से उन्होंने सचिव का पद संभाला है तब से अकादमी में कई ऐतिहासिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। दोनों उपाध्यक्ष अपने पद का दुरूपयोग कर रहे हैं। उप संपादक की नियुक्ित का निर्णय बुद्धिाीवियों की बैठक में लिया गया था। अब तक जो भी अकादमी के विकास के लिए काम किए गए सभी नियम अनुसार हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: उपाध्यक्षों ने सचिव के खिलाफ खोला मोर्चा