अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

और बच्चों के गम में पिता ने भी कर ली खुदकुशी

अपने जिन दो मासूम बच्चों को लेकर आदिदेव प्रसाद ने तमाम सपने संजोये थे, उनके इस दुनिया से एकाएक चले जाने को वह बर्दाश्त न कर सका। उसे पूरी दुनिया बेमानी लगने लगी और उसने भी मौत को गले लगा लिया। इंसान को झकझोर देनेवाली यह घटना है रांची जिले के सोनाहातू थाना क्षेत्र स्थित दुलमी गांव की। दो मई को शाम करीब छह बजे आदिदेव प्रसाद (32 वर्ष) और उसकी पत्नी खेत से घर लौटे, तो उनकी दुनिया उाड़ चुकी थी। उनके दोनों हंसते-खेलते बच्चे दम तोड़ चुके थे। दरअसल पांच साल के विशाल देव और तीन साल की मुक्ता लता ने खेल-खेल में कीटनाशक दवा पी ली थी। आदिदेव इस हादसे का सदमा नहीं झेल सका। उसने फिर से नयी दुनिया बसाने के बजाय फांसी लगा कर आत्महत्या करने की राहचुन ली। इधर इस घटना के बाद गांव में मातम है।लोगों का कहना है कि आदिदेव को अपने बच्चों से काफी लगाव था। वह उन्हें उच्च शिक्षा देने की बात करता था और इस दिशा में वह काफी दिनों से प्रयासरत भी था। इस घटना से लोग काफी आहत हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: और बच्चों के गम में पिता ने भी कर ली खुदकुशी