class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपत्तिजनक भाषण होने पर राज पर कार्रवाई : पाटिल

राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई करने के चौतरफा दबाव के बीच महाराष्ट्र सरकार के गृहमंत्रा आरआर पाटिल ने सोमवार को कहा है कि राज ठाकरे के भाषण की जांच होगी। अगर उसमें कुछ आपत्तिजनक पाया गया तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। गौरतलब है कि राज ठाकरे ने एक समारोह को संबोधित करते हुए फिर से उत्तर भारतीयों के खिलाफ बयान दिया है। इससे पहले भी उत्तर भारतीयों के खिलाफ आपत्तिजनक भाषण देने के मामले में उनको गिरफ्तार किया जा चुका है। हालांकि गिरफ्तारी के बाद उनको तुरंत ही छोड़ दिया गया था। वास्तव में महाराष्ट्र की कांग्रेस-रांकापा गठबंधन सरकार इस बात को लेकर असमंजस में है कि उत्तर भारतीयों के खिलाफ एक बार फिर भड़काऊ बयान देने के लिए उसे एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए या नहीं। सत्तारुढ़ गठबंधन सरकार के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि अगर हम क्षेत्रीय वैमनस्य बढ़ाने के आरोप में उनके खिलाफ कार्रवाई करते हैं तो इससे उनका फायदा ही होगा। इससे वह मराठी लोगों के बीच हीरो बनकर उभर सकते हैं। उन्होंने माना कि राज के नजरिए से कोई सहमत हो या न हो, लेकिन एक बात साफ है कि मराठी लोगों की समस्याओं और उनकी बेरोजगारी के लिए उत्तर भारतीयों को दोषी ठहराकर वह मराठी लोगों के बीच लोकप्रिय हो गए हैं। ऐसे में उनपर कार्रवाई उनके लिए लाभदायक ही होगा और आगामी चुनाव में उनको लाभ ही मिलेगा। ऐसे में उनपर कार्रवाई करने से पहले सभी विकल्पों पर विचार करना आवश्यक होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज ठाकरेके भाषण की जांच होगी : पाटिल