अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन राज्यों के पर्यटन दफ्तर खुलेंगे

दूसर विभागों के दफ्तर अब पर्यटन भवन में नहीं खुल पाएँगे। वहाँ पूरी तौर से पर्यटन हब बनाने की तैयारी है। तीन राज्यों ने अपने टूरिस्ट सेंटर खोलने की अनुमति दे दी है और मध्य प्रदेश ने जून में पर्यटन कार्यालय का उाटन करने का निर्णय लिया है।ड्ढr गोमती नगर सीएसआई बिल्डिंग के बगल में पर्यटन भवन की चार मंजिला इमारत में दूसर विभागों के दफ्तर अब नहीं खोले जाएँगे। पहले वहाँ पर विभिन्न सरकारी कार्यालयों को खोलने की योजना थी, लेकिन अब इस भवन को पूरी तौर से पर्यटन से सम्बन्धित विभागों को दिए जाने का फैसला लिया गया है। इसमें दूसर राज्यों के पर्यटन विभागों के दफ्तर खुलने लगे हैं। अधिकारियों का मानना है कि एक ही स्थान पर जब खास-खास पर्यटन स्थलों के पर्यटन कार्यालय खुल जाएँगे तो उससे पर्यटकों को काफी आरामड्ढr मिलेगा। उन्हें इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा।ड्ढr मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग के मुख्य महाप्रबन्धक डा. पुष्पेन्द्र सिंह ने बीते दिनों उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग से इस सम्बन्ध में समझौता किया। समझौते के मुताबिक मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग को 671 वर्ग फिट जमीन दूसर तल्ले पर दी जा रही है।ड्ढr मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग ने यह जमीन 25 रुपए प्रतिवर्ग फिट की दर से किराए पर ली है। यहाँ पर्यटन सेंटर खोलकर यूपी के पर्यटकों को मध्य प्रदेश के ऐतिहासिक और पारम्परिक पर्यटन स्थलों को घुमाने के पैकेा उपलब्घ कराए जाएँगे।ड्ढr उप प्रबन्ध निदेशक आर. विक्रम सिंह ने बताया कि छत्तीसगढ़ और राजस्थान व कर्नाटक के पर्यटन विभाग से भी यहाँ पर पर्यटन कार्यालय खोलने की बात चल रही है। जल्द ही उनके कार्यालय भी यहाँ खोल दिए जाएँगे। अभी उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग के कार्यालय के अलावा रलवे का टूरिस्ट सेंटर अभी यहाँ चल ही रहा है।ड्ढr सूत्रों का कहना है कि इस भवन की अन्य मंजिलों में निजी क्षेत्र की चल रही बड़ी टूरिस्ट कम्पनियों के दफ्तर भी खोले जाएँगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तीन राज्यों के पर्यटन दफ्तर खुलेंगे