class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस बरसात में भी कष्ट झेलना होगा : नीतीश

दोषियों पर कानूनी कार्रवाई के साथ केन्द्रीय एजेंसियों के रवैये की प्रधानमंत्री से शिकायत की जायेगी। आधारभूत संरचना का विकास जरूरी है लेकिन हम इतने ‘गरजू’ नहीं कि किसी को ‘लूट की छूट’ दे दें। जनता दरबार के बाद संवाददताओं ने जब तांतिया प्रकरण की चर्चा की तो मुख्यमंत्री ने मामले में पथ निर्माण विभाग को क्लीनचिट दे दी।ड्ढr उन्होंने कहा कि विभाग ने पूरी परिस्थिति और निर्माण कार्य की समीक्षा के बाद ही निर्णय लिया है। कॉन्ट्रैक्ट की शर्तो के उल्लंघन पर कार्रवाई तो होगी। एजेंसी को बार-बार चेतावनी दी गयी। ताजा हालात पर पथ निर्माण विभाग जल्द उचित फैसला करेगा।ड्ढr ड्ढr मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर राज्य में वे खुद निर्माण कार्यो का जायजा लेंगे। किशनगंज में अधिकारियों को भेजकर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की जांच करायी गयी है। अगर गड़बड़ी पायी गयी तो एजेंसी पर मुकदमा होगा। उन्होंने कहा कि कंकड़बाग में एनबीसीसी द्वारा घटिया नाला निर्माण की सूचना मिलते ही उन्होंने कार्यस्थल पर जाकर तहकीकात की। एजेंसी को नाले की पूरी दीवार तोड़कर फिर से बनाने को कहा गया है। बरसात में जलजमाव की ओर ध्यान दिलाये जाने पर उन्होंने लोगों के सामने दो विकल्प रखे। पहला, घटिया सड़क-नाला निर्माण और दूसरा, एक-आध साल का विलंब। साथ में खुद ही जवाब भी दे दिया कि लोग घटिया निर्माण कतई बर्दाश्त नहीं करंगे। रहा सवाल कि बरसात में क्या होगा? तो हम और आप (मीडिया) दोनों देखेंगे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इस बरसात में भी कष्ट झेलना होगा : नीतीश