DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘माया की पीएम बनना असंभव नहीं’

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) यदि लोकसभा चुनाव में 50-60 सीट जीत लेती है तो चुनाव के बाद के अस्पष्ट परिदृश्य में पार्टी की करिश्माई नेता सुश्री मायावती की प्रधानमंत्री बनने की महत्वकांक्षा पूरी तरह असंभव नहीं कही जा सकती। पत्रकार अजय बोस ने अपनी पुस्तक ‘बहनजी- मायावती का राजनीतिक जीवन’ में यह बात कही है। पुस्तक में लिखा है यदि संप्रग या राजग में से कोई भी लोकसभा चुनाव के बाद सरकार बनाने की स्थिति में नहीं हुई तो मायावती प्रधानमंत्री पद की दौड़ में आगे होगी। उन्होंने दलील दी है कि लोकसभा चुनाव के बाद अस्पष्ट परिदृश्य में यह असंभव नहीं है कि वह किसी न किसी पक्ष को अपना नाम प्रधानमंत्री पद के लिए आगे लाने के लिए राजी कर ले। बोस का कहना है कि यह अभी दूर की बात लगती है और कांग्रेस या भाजपा के लिए आत्महत्या समान है लेकिन राजनीति में अजीब चीजें पहले भी हुई हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में इस बार सत्ता में आने के बाद से मायावती की सोच में बड़ा बदलाव आया है। उनका ‘सोशल इंजीनियरिंग’ का फामरूला देश भर में रातोंरात चुनाव जीतने का मंत्र बन गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘माया की पीएम बनना असंभव नहीं’