class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिलेबस का पता नहीं क्लास शुरू

झारखंड में इंटरमीडिएट की पढ़ाई-लिखाई और परीक्षा का ढंग चौंकानेवाला है। 11वीं की परीक्षा में सभी विषयों में जीरो लानेवाला विद्यार्थी भी 12वीं में पहुंच गया है। ऐसा ही फरमान इंटरमीडिएट काउंसिल का है। फेल करो या पास सब पहुचेंगे 12वीं क्लास। राज्य के सभी कॉलेजों में 12वीं की पढ़ाई शुरू हो गयी है। कहीं एक मई से तो कहीं पांच मई से। मजेदार बात है कि अब तक किसी भी कॉलेज में 12वीं की नया सिलेबस कउंसिल ने नहीं भेजा है। टीचर हैरान हैं कि क्लास में क्या पढ़ायें? विद्यार्थी भी भौचक हैं कि घर में क्या पढ़ें? पिछले सत्र में काउंसिल ने 12वीं क्लास के सिलेबस का काफी हिस्सा 11वीं की पढ़ाई में ही शामिल कर दिया था। बताया गया था कि 12वीं के लिए नया सिलेबस तैयार होगा। 11वीं की परीक्षा हो गयी। नतीजा भी निकल गया। विद्यार्थी 12वीं में भी पहुंच गये। शिक्षक भी मुस्तैद हैं। अगर कुछ गायब है तो वह है सिलेबस। संत जेवियर कॉलेज रांची सहित कई कॉलेजों के टीचर सिलेबस के नहीं रहने की वजह से क्लास लेने नहीं जा रहे हैं। दूसरी ओर दूसर राज्यों के प्रकाशकों को शायद सिलेबस का पता चल गया है। नये सिलेबस के मुताबिक नयी किताबें भी छप कर बाजार में आ गयी हैं। कई कॉलेजों में तो किताबों की विषय सूची को ही सिलेबस का आधार मानकर पढ़ाई शुरू क दी गयी है। यह सिलेबस भी चौंकानेवाला है। क्योंकि इस सूची में वैसे टॉपिक हैं, जो बीए और एमए में पढ़ाये जाते हैं। जबकि 11वीं के साधारण सिलेबस को भी पढ़कर 0 फीसदी विद्यार्थी विषयवार पास नहीं कर पाये हैं। फिर अगर नया सिलेबस नयी छपी किताबों के अनुरूप ही है, तो फिर भगवान ही मालिक।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सिलेबस का पता नहीं क्लास शुरू