अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अखिलेश दास ने कांग्रस,सांसदी छोड़ी

अखिलेश दास ने कांग्रस छोड़ीड्ढr राज्यसभा सदस्यता से भी इस्तीफाड्ढr लखनऊ शहर कांग्रस अध्यक्ष समेत चार और नेताओं ने पार्टी से नाता तोड़ाड्ढr राज्यसभा सदस्य व पूर्व केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री डॉ. अखिलेश दास ने कांग्रेस और राज्यसभा की सदस्यता से मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। डॉ. दास को हाल ही में मंत्रिमंडल से हटाया गया था। डॉ. दास का इस्तीफा उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए एक राजनीतिक झटका है। डॉ. दास ने यह कदम ऐसे समय उठाया जब राहुल गांधी राज्य में कांग्रेस की साख जमाने की कोशिश कर रहे हैं।ड्ढr डॉ. दास ने राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही अपना इस्तीफा सभापति डॉ. हामिद अंसारी को सौंपने की कोशिश की लेकिन उन्होंने यह कहकर उसे लेने से मना कर दिया कि अभी शोक प्रकट किया जा रहा है। सभापति उस समय पंडित किशन महाराज के निधन पर शोक प्रस्ताव पढ़ रहे थे।ड्ढr डॉ. दास को संसदीय कार्य राज्यमंत्री नारायण सामी तथा अन्य कई मंत्रियों और सांसदों ने भी आसन के पास जाने से रोका। पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री अंबिका सोनी भी उन पर नाराज हुईं। अंत में महासचिव के पास अपना इस्तीफा छोड़कर डॉ. दास सदन से बाहर चले गए।ड्ढr सदन से बाहर डॉ. दास ने संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस से मोहभंग होने के कारण उन्हें यह कदम उठाना पड़ा है। पार्टी का भविष्य समझे जाने वाले राहुल गांधी के आसपास एक चौकड़ी जमा है। ऐसी स्थिति में किसी भी स्वाभिमानी व्यक्ित के लिए कांग्रेस में रह पाना संभव नहीं है। डॉ. दास उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बनारसी दास के पुत्र हैं और लम्बे समय से कांग्रेस से जुड़े थे।ड्ढr इधर, लखनऊ में डॉ. दास के समर्थक भी कांग्रस छोड़ने लगे हैं। लखनऊ के चार कांग्रेस नेताओं ने अपने इस्तीफे पार्टी हाईकमान को भेज दिए हैं। इनमें शहर कांग्रेस अध्यक्ष अचल मेहरोत्रा, पूर्व शहर कांग्रेस अध्यक्ष सुशील दुबे, पीसीसी सदस्य रहान अहमद खाँ और सुबोध श्रीवास्तव शामिल हैं। रहान पीसीसी के सचिव भी हैं। ये सभी नेता सोमवार की रात ही दिल्ली चले गए थे। डॉ. दास के लखनऊ आने के बाद शहर कांग्रेस के कई और नेता इस्तीफा दे सकते हैं। डॉ. दास के समर्थकों ने लखनऊ में उनके स्वागत की तैयारियाँ शुरू कर दी हैं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अखिलेश दास ने कांग्रस,सांसदी छोड़ी