DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नंदीग्राम में तीन महिलाओं को निर्वस्त्र कर दौड़ाया

पूर्वी मेदिनीपुर के नंदीग्राम के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। नंदीग्राम के शिमुलकुंडू गांव की तीन महिलाओं ने मंगलवार को आरोप लगाया कि माकपा कैडरों ने सोमवार को उन्हें निर्वस्त्र कर दौड़ाया। मालती जाना, कृष्णा दास और तुलसी दास ने मंगलवार को बताया कि सोमवार को माकपा के 50 कैडर ममता दास के नेतृत्व में शिमुलकुंडू आए और उनसे माकपा का प्रचार करने को क हा, किंतु उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया। इससे नाराज कैडरों ने उन्हें पीटा और निर्वस्त्र कर एक किलोमीटर तक दौड़ाया। पीड़ित महिलाओं ने अपने साथ हुए हादसे की शिकायत नंदीग्राम थाने में दर्ज कराई है। पुलिस ने मंगलवार की शाम तक किसी दोषी को नहीं पकड़ा है। शिमुलकुंडू में महिलाओं के साथ यह घटना एक बानगीभर है। सच तो यह है कि नंदीग्राम के एक और दो नंबर ब्लाक के गांवों में रात को कैडरों से मार खाना, सुबह थाने या बीडीओ आफिस पर धरना देना और रात को घर लौटने पर फिर मार खाना-यही अधिकतर ग्रामीणों की दिनचर्या बनी हुई है-गत पांच दिनों से। कैडरों के हमले से बचने के लिए जिन लोगों ने राहत शिविरों में आश्रय ले रखे हैं, उन्हें भी नहीं बख्शा जा रहा। पंचायत चुनाव के पांच दिन रह गए हैं और इधर रोज बमबाजी कर या हवा में फायरिंग कर भूमि उच्छेद प्रतिरोध कमेटी के समर्थकों को भयाक्रांत किया जा रहा है। नवंबर के ‘सूर्योदय’ के समय भी गांव वाले इतने संत्रस्त नहीं थे। हमलावर कैडरों का इलाके में प्रवेश रोकने के लिए नंदीग्राम के बलरामपुर में गांववालों ने मंगलवार को फिर रास्ते काट डाले।ड्ढr नंदीग्राम में माकपा के संत्रास को देखते हुए ही बंगाल प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष प्रियरंजन दासमुंशी ने मंगलवार को नंदीग्राम में 11 मई को होनेवाले पंचायत चुनाव स्थगित करने की मांग की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नंदीग्राम में तीन महिलाओं को निर्वस्त्र कर दौड़ाया