अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीण विकास विभाग में योजनाओं की जांच

ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं की जांच शुरू हो गयी है। विभिन्न योजनाओं की मॉनीटरिंग के लिए मुख्यालय स्तर पर गठित अधिकारियों की टीम ने आवंटित जिलों में मोर्चा संभाल लिया है। जांच के नाम पर खानापूर्ति न हो इसके लिए टीम का मूवमेंट भी तय किया गया है। दस अधिकारियों की टीम कब कहां जाएगी इसके लिए बाकायदा तिथि तय की गयी है। उन्हें अलग-अलग जिलों की जिम्मेवारी सौंपी गयी है।ड्ढr ड्ढr विभाग में अपर सचिव एस.एम. राजू को भोजपुर, बक्सर, रोहतास और कैमूर की जिम्मेवारी सौंपी गयी है। संयुक्त विकास आयुक्त सुमन कुमार को वैशाली, सारण, सीवान, गोपालगंज, विशेष कार्य पदाधिकारी वीरन्द्र प्रसाद यादव को कटिहार, पूर्णिया, अररिया, किशनगंज, निदेशक, सामाजिक वानिकी डॉ.डी.के.शुक्ला को मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, संयुक्त सचिव उदय कांत लालदास को पटना, नालंदा, जहानाबाद, अरवल, संयुक्त सचिव कामेश्वर प्रसाद सिंह को भागलपुर, बांका, उप सचिव आदित्य प्रसाद को समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया, उप सचिव कौशल कुमार राय को गया, नवादा, औरंगाबाद, उप सचिव राम बाबू सिंह को मधेपुरा, सुपौल, सहरसा तथा डी.पी.ए.पी. के परियोजना निदेशक राधाकांत कुमार को मुंगेर, जमुई, लखीसराय और शेखपुरा की जिम्मेवारी सौंपी गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ग्रामीण विकास विभाग में योजनाओं की जांच