अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब मुर्दे जायेंगे जेल!

अब मुर्दे भी जायेंगे जेल। ऐसा ही एक मामला का खुलासा दुल्हिन बाजार थाने में देखने को मिला है कि दस वर्ष पहले हुई मौत के बाद भी उस मृतक को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। जानकारी के अनुसार प्रभा देवी पिता तिलकधारी राम सकिन शास्त्रीनगर पटना में अपने पति सहित कई लोगों के खिलाफ दहेा अधिनियम की प्राथमिकी दर्ज करायी थी। जिसमें दुल्हिन बाजार थाना में कांड सं 10108 में प्रभा देवी के बयान पर पुलिस अांखबंद करके एक मृत व्यक्ित सहित चार नन्हे-नन्हे बच्चे को भी अभियुक्त बनाकर बच्चों का भविष्य अंधेर में डाल दिया। बताते चलें कि प्रभा देवी की शादी पांच साल पहले दुल्हिन बाजार थाने के भलुआ भगवान गांव निवासी गिन्नी राम के साथ हुई थी।ड्ढr ड्ढr शादी के कुछ ही दिनों के बाद पति समेत घर के अन्य सदस्य द्वारा दहेा के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। जिसे लेकर शास्त्रीनगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गई थी। जिसकी कोई कार्रवाई न होते देख पीड़िता मुख्य मंत्री जनता दरबार जा पहुंची। बाद में जनता दरबार से प्राप्त आवेदन को ग्रामीण एसपी उपेन्द्र कुमार सिंह ने त्वारित कार्रवाई हेतु आवेदेन दुल्हिन बाजार थाने को भेजा। थानेदार नेयाज अहमद ने जनता दरबार से प्राप्त आवेदन आर 43ो 6108 के जांचोपरांत 10 वर्ष पूर्व मृत व्यक्ित श्यामबिहारी राम सहित रूपम कुमारी (11), पुष्पम कुमारी (8), शिल्पा कुमारी (7), पूजा कुमारी(10), पिंटु कुमार (14)नामक बच्चे पर आंख बंद करके दुल्हिन बाजार पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की। पुलिस की ऐसी लापरवाही से लोगों का विश्वास टुटता नजर आने लगा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब मुर्दे जायेंगे जेल!